विराट कोहली © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

पिछले कुछ समय से लगातार शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने उम्मीद जताई है कि अभी उनके अंदर कम से कम आठ साल का क्रिकेट बचा है और अगर वे अपनी फिटनेस और कड़ी ट्रेनिंग कायम रखते हैं तो 10 साल तक खेल सकते हैं। कोहली ने पिछले कुछ समय में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए और कई दूसरे रिकॉर्ड उनके निशाने पर हैं।

अपनी बेहतरीन फिटनेस के लिए भी मशहूर कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ हाल ही में खत्म हुई सीरीज में दो शतक जड़कर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग के 30 शतक की बराबरी की। अब विराट कोहली महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (49 शतक) के बाद सबसे ज्यादा शतक बनाने की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं।

इस साल सबसे ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय रन बनाने वाले कोहली ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘लगातार प्रदर्शन में सुधार में कुछ भी छिपी हुई चीज नहीं है। काफी सारे लोगों को तो ये पता भी नहीं है कि हम रोजाना कितनी मेहनत करते हैं। मैंने कभी नहीं देखा कि थकान होने के बावजूद 70 प्रतिशत ट्रेनिंग करने के बाद कोई खिलाड़ी बीच में ही कह दे कि बस अब मेरा काम पूरा हो गया। हम काम पूरा करने के लिए पूरा जोर लगाते हैं।’

विराट कोहली ने आगे कहा, ‘मैं भी यही करने की कोशिश करता हूं। मेरे अंदर प्रदर्शन की भूख कभी खत्म नहीं होती। मैं अंतिम समय तक प्रदर्शन करना चाहता हूं। मेरे अंदर आठ साल या अगर मैं कड़ी ट्रेनिंग करता हूं तो 10 साल का खेल बचा है। मैं रोज नयी शुरुआत करता हूं और छोटी चीजें भी मेरे लिए काफी मायने रखती हैं।’ विराट कोहली को आराम करना पसंद नहीं!

विराट कोहली ने इस दौरान युवाओं को घर से बाहर निकलकर खेलने की सलाह दी। उन्होंने कहा, ‘हमारे समय में गैजेट्स नहीं होते थे। आजकल तो लोग आईफोन और आईपैड पर व्यस्त हैं। हमारे समय में अगर किसी के पास अच्छा वीडियो गेम होता था तो हम उसके घर जाकर उसे खेलने की योजनाएं बनाते थे। मैंने अपना बचपन सड़क और मैदान पर अलग अलग खेल खेलते हुए बिताया है और मैं युवाओं से अपील करूंगा कि वे भी बाहर जाकर खेलें और किसी ना किसी खेल से जुड़ने को कोशिश करें।’