Virat Kohli: Winning Test series in Australia is my best achievement by far
Virat Kohli (BCCI)

सिडनी टेस्ट के ड्रॉ होने के साथ ही भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज 2-1 से जीतकर इतिहास रच दिया है। ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने वाले विराट कोहली पहले भारतीय और एशियाई कप्तान बन गए हैं। कोहली ने इस जीत को अपने करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि बताया है।

ये भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बने विराट कोहली।

मैच के बाद प्रेसेंटेशन के दौरान भारतीय कप्तान ने कहा, “सबसे पहले मैं ये कहना चाहूंगा कि मैं इस टीम पर बहुत ज्यादा गर्व महसूस कर रहा हूं। पिछले 12 महीनों से हम टीम कल्चर बनाने की कोशिश कर रहे थे। हमारा बदलाव यहीं से शुरू हुआ था, जब मैं यहां पहली बार कप्तान बना था। मैं केवल एक शब्द कहूंगा कि मैं बहुत गर्व महसूस कर रहा हूं। इन खिलाड़ियों को नेतृत्व करना सम्मान की बात है। वो कप्तान को अच्छा दिखाते है, वो इस पल का जश्न मनाने के हकदार हैं।”

कोहली ने आगे कहा, “अभी तक ये मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि है। ये सबसे ऊपर होनी चाहिए। जब हम 2011 विश्व कप जीते तो मैं टीम का सबसे युवा खिलाड़ी था। मैंने दूसरों को भावुक होते देखा था लेकिन मैने वो भावना महसूस नहीं की। इस सीरीज में एक टीम के तौर पर हमें अलग पहचान दी है। जो हमने हासिल किया है, उस पर हमें बहुत गर्व है।”

ये भी पढ़ें: 30 साल बाद ऑस्ट्रेलिया को घर पर फॉलोऑन देने वाली पहली टीम बना भारत

कप्तान ने चेतेश्वर पुजारा, मयंक अग्रवाल और रिषभ पंत की जमकर तारीफ की। कोहली ने कहा, “पुजारा का नाम खासतौर पर लेना चाहूंगा, खासकर कि यहां पर उसकी आखिरी सीरीज के बाद। वो ऐसा खिलाड़ी है जो हमेशी चीजों को स्वीकार करने के लिए तैयार रहता है और अपने खेल पर काम करता है। वो टीम का सबसे अच्छा खिलाड़ी है। मयंक अग्रवाल को भी खास शुक्रिया। बॉक्सिंग डे टेस्ट में आना और इतने अच्छे अटैक के खिलाफ इन हालात में खेलना दर्शाता है कि उसे खुद पर कितना विश्वास है। रिषभ का अपना स्वाभाविक खेल खेलकर विपक्षी अटैक पर हावी होना टीम के लिए अच्छा साबित हुआ।”