विराट कोहली © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में रविवार को टीम इंडिया और पाकिस्तान की टक्कर होनी है। ये मुकाबला लंदन के ओवल मैदान पर भारतीय समयानुसार दोपहर 3 बजे से खेला जाएगा। इस मैच से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कई अहम बाते कहीं। विराट ने कहा कि उनकी टीम पर पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल खेलने का कोई दबाव नहीं है। टीम के सभी खिलाड़ी तैयार हैं उनके लिए ये मैच दूसरे मैचों की तरह ही है। आइए एक नजर डालते हैं विराट कोहली के 5 बड़े बयानों पर।

1. सोशल मीडिया से रहो दूर- विराट कोहली ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में सबसे पहले बेहद दिलचस्प बयान दिया। विराट ने कहा कि उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान सीखा है कि खिलाड़ियों को अहम मुकाबलों से पहले सोशल मीडिया से दूर रहना चाहिए। विराट ने कहा, ‘चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान मैंने सीखा कि सोशल मीडिया से दूर रहना चाहिए। ये बात आपको मजाक लग सकती है लेकिन ये सच है। ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि सोशल मीडिया से दूर रहते हुए हमें उनक चीजों पर ध्यान लगाना चाहिए जो हमारे लिए जरूरी हैं। ये मुश्किल है लेकिन आपको अच्छे प्रदर्शन,अच्छी सोच के लिए ये करना ही होगा।

2. बड़े मुकाबले में खुद पर यकीन रखना जरूरी- विराट कोहली ने कहा कि किसी भी बड़े मैच से पहले आपको खुद पर यकीन होना चाहिए। खिलाड़ी की सोच सकारात्मक होनी चाहिए। विराट ने कहा, ‘बड़े मैचों में आपको खुद पर यकीन करना होता है, मुश्किल हालात में कुछ अलग या हटके सोचने की क्षमता से टीम के बाहर निकलने में मदद मिलती है। अगर तीन विकेट गिरने के बाद आप ये सोचें की मैं आउट हो जाउंगा तो आप आउट हो जाएंगे लेकिन तीन विकेट गिरने के बाद यदि आप ये सोचते हैं कि मुझे पलटवार करना है तो टीम ट्रैक पर वापस आ जाती है।’

विराट ने कहा ‘ये ऐसी चीज है जिस पर मैं काम करता हूं मैं खुद को मुश्किल परिस्थितियों में ढाल कर देखता हूं और खुद को यकीन दिलाता हूं कि मैं टीम को मुश्किल परिस्थितियों से बाहर निकाल सकता हूं। ऐसा हर बार नहीं होता है लेकिन 10 में से 8 बार आपके पक्ष में नतीजे आते हैं क्योंकि आपको इसपर यकीन है। आप खुद को मानसिक स्तर पर किस तरह तैयार करते हैं। मैंने इसके लिए काम किया और मुझे सकारात्मक परिणाम मिले।’  ये भी पढ़ें-पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल से पहले आर अश्विन के घुटने में लगी चोट!

3. आंकड़ों पर नहीं सिर्फ जीत पर ध्यान- विराट ने पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल से पहला कहा कि उनका ध्यान आंकड़ों पर नहीं सिर्फ और सिर्फ जीत पर होता है। विराट ने कहा, ‘हम हर मैच जीतने के लिए खेलते हैं। आंकड़े और रिकॉर्ड जो पहले हुए हैं हम उसमें यकीन नहीं करते। ना हम उस चीज के बारे में कभी सोचते हैं। एक टीम के तौर पर हमारा लक्ष्य ये रहता है कि हम अच्छा खेलें और परिणाम हमारी तरफ आए। क्रिकेट ऐसा खेल है जिसमें उस दिन जो टीम अच्छा खेलेगी वह दूसरी टीम से अच्छा प्रदर्शन करेगी। उसके जीतने के आसार ज्यादा हो जाते हैं।’

4.पाकिस्तान के हर खिलाड़ी के लिए तैयार- विराट कोहली ने फाइनल से पहले कहा कि वो पाकिस्तान के लिए हर खिलाड़ी के लिए तैयार हैं। विराट ने कहा, ‘मैं किसी भी खिलाड़ी के वीडियो देखने में यकीन नहीं करता हूं। मेरा तैयारी का सबसे अच्छा तरीका अपनी क्षमता में यकीन करना है। मैं ये महसूस करता हूं कि अगर मेरी तकनीक सही है तो मैं दुनिया के किसी भी गेंदबाज का सामना कर सकता हूं। आप किसी खिलाड़ी के खिलाफ पहले खेले हैं या नहीं इससे किसी के प्रदर्शन की गारंटी नहीं हो सकती। आपको गेंदबाज के खिलाफ अटैक करने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए हम इसी सोच के साथ इस टूर्नामेंट में उतरे हैं और आगे भी हम ऐसा ही करना चाहते हैं।

5. फाइनल जीतने की उम्मीद- विराट कोहली ने कहा, ‘भारत और पाकिस्तान दोनों टीमें खिताब जीतना चाहती हैं। मुझे यकीन है कि टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी एकजुट होकर टीम के लिए खेलेंगे और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे। फाइनल मैच हमारे लिए दूसरे मैचों की तरह होगा, नतीजा कुछ भी हो हमें मैदान पर जाकर अपना खेल खेलना है। ऐसे हालात में आप जितना शांत रहेंगे आपको उतने ही बेहतर फैसले लेने में मदद मिलेगी। ‘