Indian Skipper Virat Kohli’s average in T20 cricket is more than double to his normal average
Virat Kohli @ Instagram

भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाजों में शुमार हैं। खेल के प्रति उनका जुनून ऐसा है क्रिकेट के दिग्‍गज भी उनका लोहा मानते हैं। चाहे वनडे क्रिकेट हो या टी20 या फिर हो खेल का सबसे लंबा प्रारूप। विराट की बल्‍लेबाजी में इतनी जबर्दस्‍त निरंतरता है कि विरोधी टीम के हौसले उनके मैदान में आते ही पस्‍त होने लगते हैं।

जब मुश्किल परिस्थितियों में रन चेज की बात आती है तो विराट का दृढ़ विश्‍वास देखते ही बनता है। हम यह बात यूं ही नहीं कर रहे हैं। इसके पीछे वजह है वनडे और टी20 क्रिकेट में रन चेज के दौरान विराट कोहली का शानदार रिकॉर्ड।

रद्द नहीं हुआ है भारत का श्रीलंका दौरा; समय लेकर फैसला करेगी BCCI

जी हां, रन चेज करने के दौरान विराट कोहली की औसत वनडे क्रिकेट में 96.21 की है। वहीं, उनके पूरे वनडे करियर की औसत 59.3 है। ऐसे में ये समझा जा सकता है कि वो रन चेज के दौरान और भी घातक हो जाते हैं। रन चेज करते हुए विराट 86 पारियों में 5,388 रन बना चुके हैं।

वहीं, टी20 क्रिकेट की बात की जाए तो यहां  चेज करने के दौरान विराट वनडे से भी ज्‍यादा खतरनाक हैं। टी20 क्रिकेट में दूसरी पारी में बल्‍लेबाजी करने के दौरान विराट का औसत 107.91 का है, जो उनके ओवरऑल करियर के मुकाबले दोगुने से ज्‍यादा है। विराट कोहली ने टी20 क्रिकेट में 82 मैचों में 50.8 की औसत से 2,794 रन बनाए हैं।

नए वनडे कप्‍तान इस पाकिस्‍तानी ऑलराउंडर से सीखना चाहते हैं आक्रमकता भरा खेल

ऐसे में विराट को चेज मास्‍टर कहना गलत नहीं होगा। विराट ने हाल ही में तमीम इकबाल से बातचीत के दौरान इसके पीछे का कारण भी बताया। उन्‍होंने कहा, “जब मैं छोटा था तो काफी क्रिकेट मैच देखा करता था। उस वक्‍त मैं उस बात से पूरी तरह आश्‍वस्‍त था कि जिन मुकाबलों में भारत नहीं जीत पाया वहां अगर मैं खुद होते तो जीत दिला सकता था। उसी तरह की भावना को लेकर ही मैं उक्‍त मैचों के बाद सोने के लिए बिस्‍तर पर जाया करते था।”