‘वह दिन दूर नहीं जब खिलाड़ियों को सीधे स्टेडियम में उतरकर मैच खेलना होगा’
Rajkumar Sharma @twitter (file image)

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की व्यस्त कार्यक्रम को लेकर की गई कड़ी टिप्पणी का समर्थन करते हुए उनके बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने कहा कि बीसीसीआई को खिलाड़ियों से सलाह मशविरा करके अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम को अंतिम रूप देना चाहिए।

पाकिस्तान के खिलाफ बांग्लादेशी टेस्ट टीम का ऐलान, बाहर हुए मुस्ताफिजुर

शर्मा ने ‘भाषा’ से विशेष बातचीत में कहा, ‘मेरा मानना है कि बोर्ड (बीसीसीआई) को अंतरराष्ट्रीय दौरे का कार्यक्रम खिलाड़ियों से सलाह मशविरा करके तय करना चाहिए, क्योंकि लगातार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना थकाने वाला होता है। अगर खिलाड़ियों को हल्की चोटों से उबरने के लिये समय मिलेगा तो उनका प्रदर्शन भी बेहतर होगा।’

कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज से पहले कहा था कि अब वह दिन दूर नहीं जब खिलाड़ियों को सीधे स्टेडियम में उतरकर मैच खेलना होगा।

भारतीय कप्तान ने कहा था, ‘अब हम उस स्थिति के निकट पहुंच रहे हैं कि सीधे स्टेडियम पर लैंडिंग करके खेलना होगा। कार्यक्रम इतना व्यस्त हो गया है लेकिन इतनी यात्रा करके अलग टाइम जोन वाले देश में आकर तुरंत ढल जाना आसान नहीं होता।’

20 साल के शुभमन गिल ने दोहरा शतक जड़ खटखटाया टेस्ट टीम का दरवाजा

शर्मा ने केएल राहुल को विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में उपयोग किए जाने पर भी कोहली और टीम प्रबंधन के फैसले का समर्थन किया और साथ ही कहा कि अगर महेंद्र सिंह धोनी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करनी है तो उन्हें इस पर जल्द फैसला लेना होगा।

उन्होंने कहा, ‘केएल राहुल को जबसे विकेटकीपिंग मिली है तब से उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है और उन्होंने विकेटकीपिंग भी बहुत अच्छी की है। उनके विकेटकीपिंग करने से भारत के पास विकल्प बढ़ जाते हैं। वह अभी विशेषकर टी20 क्रिकेट में स्वत: पसंद है और वह अच्छी विकेटकीपिंग जारी रखते हैं तो इससे टीम संतुलन पैदा होगा।’

‘धोनी को जल्द करना होगा फैसला’

शर्मा ने कहा, ‘जहां तक धोनी का सवाल है तो वह इतने बड़े खिलाड़ी हैं कि यह फैसला उन पर छोड़ देना चाहिए कि वह कब वापसी करना चाहते हैं। लेकिन अगर उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना है तो फिर फैसला जल्दी करना चाहिए क्योंकि पिछले छह महीनों से उन्होंने क्रिकेट नहीं खेला है और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काफी कड़ा होता है जिसमें आपको दिनोंदिन मेहनत करनी होती है।’

भारतीय टीम ने हाल में टी20 में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है जो इस साल सितंबर अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले उसकी पुख्ता तैयारियों का सबूत है लेकिन शर्मा ने कोहली एंड कंपनी को आत्ममुग्धता से बचने की सलाह दी।

उन्होंने कहा, ‘अगर आप यह सोचते हैं कि हम सबसे बेहतर हैं तो यह आत्ममुग्धता होगी। लेकिन हमारी तैयारियां बहुत अच्छी चल रही हैं। सभी खिलाड़ी अपना योगदान दे रहे हैं। कप्तान आगे बढ़कर नेतृत्व कर रहा है। रोहित (शर्मा) बेहतरीन फॉर्म में हैं। कुल मिलाकर हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।’

शर्मा ने उम्मीद जताई कि भारतीय टेस्ट टीम भी न्यूजीलैंड के खिलाफ 21 फरवरी से शुरू होने वाली दो टेस्ट मैचों की सीरीज में अपना विजय अभियान जारी रखने में सफल रहेगी।

उन्होंने कहा, ‘भारतीय टीम ने साबित कर दिया कि वह हर तरह की परिस्थितियों में खेलने में सक्षम है। अब वह इस बात की चिंता नहीं करती कि वह कैसे विकेट पर खेल रहे हैं या टॉस हार रहे हैं। इन चीजों का अब महत्व कम हो गया है। मुझे पूरा विश्वास है कि टेस्ट सीरीज में भी वह अपना विजय अभियान जारी रखने में सफल रहेगी।’