विराट कोहली © IANS
विराट कोहली © IANS

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को वर्ल्ड क्रिकेट में किसी भी परिचय की जरूरत नहीं है। वह अब अपने इतिहास को खुद स्वर्ण अक्षरों से लिखने में लग गए हैं। वह तीनों फॉर्मेटों में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और टीम इंडिया को जीत दिलवाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। कोहली की कप्तानी में जिस तरह से टीम इंडिया का जीत का ग्राफ ऊपर चढ़ा है वह उस तेजी से पहले कभी नहीं चढ़ा। कोहली सिर्फ अच्छे खिलाड़ी ही नहीं बल्कि एक बेहतरीन कप्तान भी हैं

कोहली की एक बात ने लोगों का दिल जीता लिया है। वो है विराट कोहली के द्वारा विजेता ट्रॉफी युवा मोहम्मद सिराज के हाथों में थमाना। कोहली ने हमेशा से युवाओं का साथ दिया है। जब न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत के बाद विराट कोहली ने ट्रॉफी प्राप्त की, कोहली ने फौरन ट्रॉफी युवा सिराज को थमा दी। इसके बाद सिराज ने अन्य टीम मेंबर्स के साथ जश्न में शिरकत की। इस सीरीज में सीरीज में उनके साथ श्रेयस अय्यर को भी मौका दिया गया था। गौरतलब है कि सिराज ने दूसरे टी20 के साथ अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था। इस मैच में वह खासे महंगे साबित हुए थे। उन्होंने 4 ओवरों में 53 रन दे डाले थे। कोहली का यह व्यवहार बताता है कि वह युवाओं के उत्साह को ऊंचा रखने में कितना सफल रहते हैं।

 

सके अलावा कोहली अपने खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने हाल ही में एमएस धोनी का पक्ष लेते हुए यह जाहिर भी कर दिया। पिछले दिनों टीम इंडिया में एमएस धोनी की पोजीशन को लेकर कई लोगों ने सवाल उठाए गए थे और कहा था कि धोनी को अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लेना चाहिए। ये सब टीम इंडिया की राजकोट टी20 में हार के बाद शुरू हुआ था। इस मैच में धोनी ने बीच के ओवरों में खासी धीमी बल्लेबाजी की थी। इस पर कोहली ने कहा था कि हार के लिए एक व्यक्ति को जिम्मेदार ठहराना ठीक नहीं जो हमेशा से अपना सबकुछ टीम इंडिया को देता आया है। कोहली की ये बात जबरदस्त थी और कई लोग तो ये सुन सुनकर गदगद हो गए।