Virat Kohli’s selection did not sack Dilip Vengsarkar’s job as selector: N Srinivasan
एन श्रीनिवासन © Getty Images

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने दिलीप वेंगसरकर के उन दावों को खारिज कर दिया जिसमें पूर्व क्रिकेटर ने कहा था कि उन्हें चयनसमिति के अध्यक्ष पद से हटाने के लिए वो जिम्मेदार थे। श्रीनिवासन ने इन आरोपों को पूरी तरह से गलत, प्रेरित और निराधार बताया। वेंगसरकर ने दावा किया था कि 2008 में तमिलनाडु के बल्लेबाज एस बद्रीनाथ के बजाय विराट कोहली को तरजीह देने के कारण उन्होंने चयनसमिति के अध्यक्ष का पद गंवा दिया था और इसके लिये बीसीसीआई के तत्कालीन कोषाध्यक्ष एन श्रीनिवासन जिम्मेदार थे।

निदास ट्रॉफी 2018, तीसरा टी20 (प्रिव्यू): श्रीलंका के खिलाफ मैच में पहली जीत दर्ज करने उतरेगा बांग्लादेश
निदास ट्रॉफी 2018, तीसरा टी20 (प्रिव्यू): श्रीलंका के खिलाफ मैच में पहली जीत दर्ज करने उतरेगा बांग्लादेश

श्रीनिवासन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘वो किस की तरफ से ये सब कह रहे हैं। इसके पीछे का मकसद क्या है। ये जो भी है, वो सच्चाई नहीं है। जब एक क्रिकेटर इस तरह की बात करता है तो ये अच्छा नहीं है। उनका कहना है कि उन्हें मुख्य चयनकर्ता के पद से हटाने के लिए मैंने हस्तक्षेप किया, ये बात कतई सच नहीं है। अब इस बात को कहने का मतलब क्या है। मैं चयन मामलों में हस्तक्षेप नहीं करता था। वो किस हस्तक्षेप की बात कर रहे हैं।’’

श्रीनिवासन ने कहा कि वेंगसरकर ने 2008 में चयनसमिति के अध्यक्ष का पद इसलिए गंवाया था क्योंकि वो मुंबई क्रिकेट संघ के उपाध्यक्ष पद पर बने रहना चाहते थे। हाल ही में भारत के पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर को टी20 मुंबई लीग का मुख्य मेंटर नियुक्त किया गया है।