वीरेंद्र सहवाग आजकल ट्विटर के माध्यम से लोगों का मनोरंजन कर रहे हैं © Yogen Shah
वीरेंद्र सहवाग आजकल ट्विटर के माध्यम से लोगों का मनोरंजन कर रहे हैं © Yogen Shah

जब वह भारतीय टीम के लिए खेलते थे तो अपनी विस्फोटक पारी से लोगों का मनोरंजन करते थे और अब जब वह संन्यास ले चुके हैं तो सोशल मीडिया पर अपने व्यंग्यों से लोगों का मनोरंजन कर रहे हैं। हम बात कर रहे हैं वीरेंद्र सहवाग की। सहवाग जिस अंदाज में लोगों पर व्यंग्य कसते हैं ऐसे में सहवाग को इसके लिए कई निकनेम भी दे दिए गए हैं, ( ट्विंटर कॉमेडी किंग और मास्टर ट्रॉलर) इनमें प्रमुख हैं।

अक्सर अपने ट्वीट से लोगों का मजाक उड़ाने वाले भारतीय टीम के पूर्व धुरंधर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने हाल ही में कहा कि उन्हें लोगों को ट्रॉल करना नहीं आता। सहवाग ने कहा ‘मुझे नहीं मालूम की लोगों को ट्रॉल कैसे किया जाता है, मैं कुछ भी लिखने से पहले इस बात का ख्याल रखता हूं कि किसी की भवनाओं को ठेस ना पहुंचे। मैं ऐसा लिखता हूं कि जिसे पढ़कर लोग हंसने लगें, मैं अपने साथियों और सितारों को ऐसे अंदाज में बधाई देता हूं जिससे लोगों को उसपर बहस करने या कुल बोलने का मौका मिल जाए। लेकिन दुनिया में हर तरह का इनसान मौजूद है जो आपके नफरत भी करता है और प्यार भी’। ये भी पढ़ें: इंग्लैंड को हराने का ‘R-स्क्वॉयर’ प्लान

सहवाग ने कहा कि अब जब मैं क्रिकेट नहीं खेल रहा हूं तो मैं ट्विटर के माध्यम से लोगों से जुड़ा और उन्हें हंसाता रहना चाहता हूं। कुछ लोग आपकी बल्लेबाजी का लुत्फ उठाते हैं और कुछ लोग आपके परिहास करने का। इसलिए मैं कुछ ना कुछ लिखता रहता हूं जिससे मुझे लोगों की बधाई मिलती रहे। सहवाग ने साथ ही कहा कि सोशल मीडिया में लोग मजाक करना पसंद नहीं करते, कोई भी सोशल मीडिया में हास्यास्पद नहीं लिखना चाहता इसलिए सब राजनीतिक विषय पर ही लिखते हैं। सहवाग ने कहा ‘मेरा हर ट्वीट राजनैतिक उद्देश्य से एकदम सही होता है। आप मेरे ट्विटर वॉल वर देख सकते हैं कि मैंने कोई भी एसा ट्वीट नहीं किया जिससे लोगों को परेशानी हो। कभी-कभार लोग ट्वीट को गलत तरीके से ले लेते हैं और मैं उसपर कुछ नहीं कर सकता।’