VVS Laxman: Not being part of 2003 World Cup was shattering
VVS Laxman never played a ODI world cup © Getty Images

भारतीय टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में वीवीएस लक्ष्मण का कद जितना बड़ा है, वनडे क्रिकेट में उनके आंकड़े इसकी सही छवि नहीं दिखाते। लक्ष्मण खुद भी समझते थे कि वो वनडे के उतने बेहतरीन खिलाड़ी नहीं हैं लेकिन 2003 विश्व कप ना खेल पाने पर उन्हें काफी दुख हुआ।

लक्ष्मण ने मुंबई मिरर से बातीचत में कहा, “मैं अपने वनडे प्रदर्शन से जाहिर तौर पर संतुष्ट नहीं था। 2001 तक मुझे वनडे खेल समझ नहीं आता था, जब तक मैने गोवा में शतक नहीं जड़ा था। मेरा खेल टॉप ऑर्डर के लिए ज्यादा सही था ना कि पांच या छह नंबर के लिए। मैं फिनिशर रोल के नहीं बना था। लेकिन टॉप ऑर्डर में इतने दिग्गज (सचिन तेंदुलकर, वीरेंदर सहवाग, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़) थे कि मेरे लिए जगह ही नहीं थी।”

पूर्व क्रिकेटर ने आगे कहा, “मैं विश्व कप खेलने के लिए दृढ़ संकल्प कर चुका था, उसका हिस्सा ना बन पाना दुखद था। उससे पहले की सीरीज में मैं सर्वाधिक रन बनाने वाला बल्लेबाज था। मैं किसी पर दोष नहीं लगा रहा, हालांकि एक समय था जब मैने खेल छोड़ने का फैसला किया। खुशकिस्मती से विश्व कप के बाद पांच महीने का गैप था और रिकवरी के लिए पर्याप्त समय था।” गौरतलब है कि वीवीएस को अपने करियर में सीमित फॉर्मेट का विश्व कप खेलने का मौका नहीं मिला।