VVS Laxman: Rishabh Pant must understand that what is his strength can easily lead to his downfall, if he is not careful
Rishabh Pant @ AFP

इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के दौरान अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में अपने डेब्‍यू के साथ ही रिषभ पंत का अबतक करियर शानदार रहा है। रिषभ अबतक पांच टेस्‍ट मैच खेल चुके हैं, जिसमें 43.25 की औसत से उनके बल्‍ले से 346 रन निकले। पंत ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ आखिरी टी-20 मुकाबले में अर्धशतकीय पारी खेलकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्‍मण का मानना है कि रिषभ पंत का भारतीय टीम में काफी अच्‍छा भविष्‍य है।

टाइम्‍स ऑफ इंडिया के लिए लिखे अपने कॉलम में लक्ष्‍मण ने कहा, “रिषभ पंत को ये समझना होगा कि उनके क्‍या मजबूत प्‍वांइट और क्‍या कमजोरियां हैं। अगर उन्‍होंने अपने मजबूत प्‍वाइंट पर काम नहीं किया और लापरवाही से खेलते रहे तो वो दिन दूर नहीं है जब उनका बुरा समय शुरू हो जाएगा। रिषभ पंत को अपना स्‍वाभाविक क्रिकेट खेलना चाहिए।”

लक्ष्‍मण ने आखिरी टी-20 के दौरान शिखर धवन के फॉर्म में लौटने पर भी खुशी जताई। उन्‍होंने कहा, “ऑस्‍ट्रेलिया दौरे से पहले शिखर धवन को रन बनाते देखकर काफी अच्‍छा लग रहा है। रिषभ पंत के साथ धवन की लंबी साझेदारी के कारण भारत चेन्‍नई टी-20 जीतने में कामयाब रहा।” वनडे सीरीज के दौरान पांच मैचों में शिखर धवन महज 154 रन ही बना पाए थे। इस दौरान उनका औसत 30.80 का रहा। चेन्नई में खेले गए सीरीज के आखिरी टी-20 मुकाबले में धवन के बल्‍ले से 62 गेंद पर 92 रन निकले।

लक्ष्‍मण का मानना है कि डेथ ओवरों में गेंदबाजी के लिए जसप्रीत बुमराह बेहद प्रभावी हैं। सफेद गेंद के क्रिकेट में कुलदीप यादव टीम के सबसे बेहतरीन स्पिन गेंदबाज हैं। उनका गेद पर पूरा कंट्रोल रहता है। वेस्‍टइंडीज के बल्‍लेबाज समझ ही नहीं पा रहे थे कि कुलदीप की गेंद किस दिशा में घूमेगी।