VVS Laxman to BCCI Lokpal: Don’t require any further hearing
VVS Laxman @ BCCI

पूर्व भारतीय स्टार वीवीएस लक्ष्मण ने बीसीसीआई के लोकपाल को सूचित किया है कि उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटर और बोर्ड की क्रिकेट सलाहकार समिति का सदस्य होने की दोहरी भूमिका के कारण हितों के टकरावों के कथित आरोपों के संबंध में आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है। न्यायमूर्ति जैन ने अब अपना फैसला सुरक्षित रखा है। बीसीसीआई और शिकायतकर्ता संजीव गुप्ता ने भी कहा है कि आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है।

पढ़ें:- विजय शंकर बोले- टीम जानती है मैं काम का हूं यही मायने रखता है

लक्ष्मण और तेंदुलकर ने जैन के सामने लंबी गवाही दी और सुनवाई की अगली तिथि 20 जून तय की गयी थी जब वकील उनकी तरफ से उपस्थित होते। पता चला है कि लक्ष्मण ने स्पष्ट किया है कि उन्हें अपने बयान में और कुछ नहीं जोड़ना है। इसमें लिखित बयान भी शामिल है। लक्ष्मण ने अपने हलफनामे में साफ किया था कि हितों का टकराव नहीं है। उन्होंने स्पष्ट किया कि अगर आरोप साबित हो जाते हैं तो सीएसी सदस्य पद से हट जाएंगे।

पढ़ें:- 5वां वर्ल्‍ड कप खेलने जा रहे क्रिस गेल बोले- युवा खिलाड़ी मेरे लिए जीतें खिताब

बीसीसीआई वेबसाइट में मौजूद नैतिकता अधिकारी के बयान में कहा गया, ‘‘वीवीएस लक्ष्मण ने अपना लिखित बयान सौंप दिया है और मामले का फैसला रिकॉर्ड में मौजूद सामग्री और आज दायर किये गये लिखित बयान के आधार पर किया जा सकता है। उन्होंने कहा है कि उन्हें इस मामले में आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है।’’