Wasim Jaffer may take over as Vidarbha coach after Chandrakant Pandit’s exit
Wasim-Jaffer

विदर्भ को दो बार रणजी ट्रॉफी और दो बार ईरानी ट्रॉफी का खिताब दिलाने वाले कोच चंद्रकांत पंडित ने टीम क साथ छोड़ दिया है और अब पंडित के अच्छे दोस्त तथा हाल ही में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने वाले दिग्गज बल्लेबाज वसीम जाफर उनका स्थान ले सकते हैं। जाफर वो क्रिकेटर हैं, जिन्होंने पंडित के साथ मिलकर विदर्भ की किस्मत बदली। जाफर ने अपने करियर के आखिरी साल विदर्भ से ही क्रिकेट खेली।

विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) के एक सूत्र ने कहा कि जाफर ने संन्यास के बाद कोचिंग की इच्छा जताई थी। विदर्भ के साथ उनका अलग लगाव रहा है और इसी कारण उनके बतौर कोच विदर्भ लौटने की सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता। साथ ही खिलाड़ियों के बीच उनका बड़ा सम्मान है।

सूत्र ने कहा, ‘पंडित चले गए हैं। उनके स्थान पर वसीम जाफर आ सकते हैं। जाफर ने हाल ही में संन्यास लेने के बाद कहा भी था कि वह कोचिंग करेंगे और ऐसे में विदर्भ के साथ वह इसकी शुरुआत कर सकते हैं। हालांकि अभी औपचारिक तौर पर वीसीए में कुछ भी नहीं हुआ है लेकिन खिलाडियों और अधिकारियो के बीच जाफर के अच्छे रेपुटेशन को देखते हुए इस सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता।’

अपनी बायोपिक में इस एक्टर को देखना चाहते हैं युवराज सिंह

जाफर बांग्लादेश टीम के साथ बल्लेबाजी कोच के तौर पर भी काम कर चुके हैं। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के इस सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें बल्लेबाजी कोच के तौर पर टीम में शामिल किया हैं।

जाफर से जब इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्हें अभी तक आधिकारिक तौर पर विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) से कुछ प्रस्ताव नहीं मिला है और ना ही उनकी वीसीए में किसी अधिकारी से बात हुई।

बकौल जाफर, ‘मुझे अभी तक वीसीए से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है और ना ही मेरी वीसीए में बात हुई। अगर प्रस्ताव मिलता है तो बिल्कुल इसके बारे में सोचेंगे, लेकिन अभी तक कुछ नहीं है।’

विराट कोहली से प्रेरित इस क्रिकेटर ने फिटनेस लेवल को पहुंचाया नई ऊंचाइयों पर, ठोक डाले 809 रन

वहीं वीसीए के अध्यक्ष आनंद जायसवाल ने कहा, ‘हम अभी भी प्रक्रिया से गुजर रहे हैं, अभी हमने सोचा नहीं कि कौन होगा।’

उनसे जब पूछा गया कि क्या जाफर कोच बन सकते हैं तो उन्होंने कहा, ‘अभी तक कुछ भी फाइनल नहीं है और इस समय कोरोनावायरस के कारण जो स्थिति है उसके कारण हम अभी मिल भी नहीं सकते। किसको नियुक्त किया जाएगा या किसको एप्रोच किया जाएगा इसे लेकर मैं अभी कुछ नहीं कह सकता क्योंकि यह फैसला सभी अधिकारियों, क्रिकेट डेवलपमेंट समिति को मिलकर लेना है। जब स्थिति बेहतर होगी तो हम बैठक करेंगे और इस पर बात करेंगे।’