watch mohammed siraj talking about last over with axar patel hitting six

त्रिनिदाद: वेस्टइंडीज ने रविवार को भारत के खिलाफ वनडे इंटरनैशनल मैच में अधिकतर समय अपनी पकड़ बनाए रखी। लेकिन पहले श्रेयस अय्यर और संजू सैमसन की जोड़ी और उसके बाद लोअर ऑर्डर में अक्षर पटेल की बल्लेबाजी ने भारत को करीबी मुकाबलेम में जीत दिला दी। भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए 8 रन चाहिए थे। अक्षर पटेल के साथ सिर्फ मोहम्मद सिराज और युजवेंद्र चहल बचे थे। लेकिन बाएं हाथ के इस ऑलराउंडर ने संयम कायम रखा और ओवर की चौथी गेंद पर छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिला दी। इस मैच के बाद मोहम्मद सिराज ने आखिरी ओवर की टेंशन और अक्षर के साथ अपनी बातचीत बताई।

19वें ओवर में आउट होने से पहले आवेश खान ने दो चौके लगाकर टीम इंडिया को काफी मदद की। सिराज आखिरी ओवर में अक्षर पटेल का साथ देने उतरे। पटेल एक रन लेने से बचना चाहते थे। सामने सिराज थे और पटेल को इसका रिस्क मालूम था। इसी वजह से जब काइली मेयर्स के आखिरी ओवर की दूसरी गेंद पर जब उन्होंने एक रन लिया तो वह दूसरे रन के लिए दौड़ना चाहते थे। हालांकि ऐसा हो न सका।

मैच के उस लम्हे की बात करते हुए सिराज ने बीसीसीआई.टीवी से उस लम्हे के बारे में बताया। उन्होंने खुलासा किया कि जिस तरह अक्षर जोश में थे और मैच खत्म करना चाहते थे उससे उन्हें भी जोश आ रहा था। उन्हें लगा था कि वह भी छक्का मार सकते हैं। लेकिन सिराज ने कहा कि उन्हें असहास हुआ कि ऐसा करना ठीक नहीं होगा और उन्होंने एक रन लेने का फैसला किया।

उन्होंने कहा, ‘अक्षर को देखकर लग रहा था कि जैसे वो बात कर रहा थआ, जैसे वो पम्पड था, अलग ही फील हो रहा था। मुझे भी फील हो रहा था कि मैं भी मार दूंगा छक्का। लेकिन समझदारी यही था कि मेरा सिंगल लेना।’

सिराज का यह फैसला बिलकुल सही साबित हुआ। भारत को आखिरी तीन गेंद पर छह रन चाहिए थे। अक्षर ने ओवर की चौथी गेंद, जो फुल टॉस थी, पर सिक्स लगार सीरीज भारत के नाम कर दी। सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच बुधवार को खेला जाएगा।