watch video how prabath jayasuriya bowled babar azam with a beauty 5th day is very important
babar azam bowled

गॉल: श्रीलंका के पास एक नया स्पिनर आया है। बाएं हाथ से फिरकी फेंकता है। नाम है प्रभात जयसूर्या। और अभी तक मिले मौकों में उसने कमाल कर दिखाया है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू किया और दोनों पारियों में 6-6 विकेट लिए। पाकिस्तान के खिलाफ पहली पारी में भी पांच विकेट लिए। और मेजबान श्रीलंका को गॉल टेस्ट के आखिरी दिन अपने इस स्पिनर से फिर बड़ी उम्मीदें होंगी।

पाकिस्तान के सामने 342 का टारगेट है। और चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक उसने तीन विकेट पर 222 रन बना लिए हैं। यानी टारगेट 110 रन दूर है और विकेट सात हैं हाथ में।

बाबर आजम की टीम काफी मजबूत नजर आ रही है। लेकिन अगर जयसूर्या चले तो फिर पाकिस्तान के लिए मुश्किल हो सकती है। चौथे दिन उन्होंने जिस अंदाज में बाबर को बोल्ड किया उससे तो अंदाजा लग जाता है कि पिच में मदद है और हाथों में हुनर। इन दोनों का मेल अगर हो गया तो फिर लंका का डंका बजने से रोक पाना पाकिस्तान के लिए आसान नहीं होगा।

बात बाबर को बोल्ड करने की करें तो आपको शेन वॉर्न की कई गेंद याद आ जाएंगी। लेग स्टंप से बाहर पिच होती गेंद को बल्लेबाज पैड से कवर करने की कोशिश करता है। बल्ला दूर रखता है ताकि नजदीकी फील्डर्स को कैच लपकने का चांस न मिले। लेकिन, गेंद पैड के पीछे से जगह बनाती हुई विकेटों पर जा लगती है। और ऐसा ही बाबर आजम के साथ हुआ। बाबर को मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिना जाता है। इसकी एक वजह यह भी है कि तेज हो या स्पिन, वह दोनों पर कमाल करते हैं। यहां भी आउट होने से पहले उन्होंने हाफ सेंचुरी बनाई।

…लेकिन जयसूर्या ने ठान लिया था कि बाबर को कहां फंसाना है। इसी ओवर में उन्होंने पहले भी ऐसी कोशिश की थी लेकिन बाबर थोड़ा बच गए। लेकिन यह गेंद तो कमाल रही। लेग स्टंप के बाहर गिरी। बाबर ने पूरे यकीन के साथ पैड आगे निकाला। इस उम्मीद में गेंद पैड से टकराएगी। अब चूंकि लेग स्टंप के बाहर पिच हुई है तो LBW का कोई चांस नहीं। बल्ला ऊपर है, तो करीबी फील्डर्स के लिए कोई मौका नहीं। पर गेंद ने टप्पा खाया और बाबर के पैड की डिफेंस लाइन को धत्ता बताती हुई विकेटों से जाकर टकरा गई। 55 रन पर खेल रहे बाबर को यकीन नहीं हुआ। पर सच उनके पीछे था। टेढ़े हुए स्टंप्स और जमीन पर बिखरी हुईं गिल्लियां।

पाकिस्तान की उम्मीदें सलामी बल्लेबाज अब्दुल्ला शफीक और विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान पर हैं। रिजवान तो अभी नए-नए क्रीज पर आए हैं। सात रन बनाकर नाबाद लौटे। पर शफीक शतक बना चुके हैं। 289 गेंद यानी 48 ओवर से ज्यादा बल्लेबाजी कर चुके हैं। और 112 पर खेल रहे हैं। लक्ष्य अब ज्यादा नहीं हैं, लेकिन पांचवें दिन की पिच के मिजाज को लेकर कोई गारंटी नहीं दी जा सकती। विकेट गिरने शुरू हुए तो पाकिस्तानी खेमे में हड़बड़ी मच सकती है। और हड़बड़ी में गड़बड़ी होते हमने अकसर देखा है।