watch video how virat kohli bows down to dinesh karthik after rcb wicket-keeper batter played brilliant innings
दिनेश कार्तिक @IPL

विराट कोहली (Virat Kohli) का बल्ला उनसे रूठा हुआ है। बीते काफी समय से वह खुलकर बल्लेबाजी नहीं कर पा रहे हैं। रविवार को सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम (Wankhede Stadium) में वह मैच की पहली ही गेंद पर खाता खोले बिना आउट हो गए। सीजन में तीसरी बार वह पहली ही गेंद पर आउट हो गए। इसके बाद कोच संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) उन्हें समझाते हुए भी नजर आए।

हालांकि जब रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (Royal Challengers Bangalore) की पारी समाप्त हुई तब 33 साल के कोहली काफी खुश थे। और उनकी खुशी की वजह थी दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) की पारी। कार्तिक ने सिर्फ 8 गेंदों पर 30 रन की धमाकेदार पारी खेली। उनकी इस तेज-तर्रार पारी की मदद से बेंगलोर ने 3 विकेट पर 192 का स्कोर बनाया। कार्तिक को सीजन में बतौर फिनिशर आजमाया जा रहा है और यह विकेटकीपर बल्लेबाज इस भूमिका को बखूबी निभा भी रहा है।

कार्तिक ने अपना पहला मैच खेल रहे फजलहक फारुखी के आखिरी ओवर में तीन छक्के और एक चौका लगाया। हालांकि उन्हें इस दौरान एक जीवनदान भी मिला जब राहुल त्रिपाठी (Rahul Tripathi) ने उनका एक आसान सा कैच छोड़ दिया। लेकिन कार्तिक मैदान पर यह धमाकेदार पारी खेलने के बाद ड्रेसिंग रूम में गए तो कोहली खुशी से झूम उठे। आखिर कार्तिक ने काम ही ऐसा किया था। 375 के स्ट्राइक रेट से रन बनाकर यह अनुभवी खिलाड़ी ड्रेसिंग रूम में पहुंचा था। कोहली ने इसके बाद कार्तिक को झुककर सलाम किया।

कोहली के इस रवैये की खूब तारीफ हो रही है। कार्तिक ने इस सीजन में ऐसी कई पारियां खेली हैं। उन्होंने बेंगलोर के लिए छोटी मगर उपयोगी पारियां खेली हैं।

कार्तिक के साथ ही कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कमाल का खेल दिखाया। डु प्लेसिस ने 50 गेंद पर 73 रन की नाबाद पारी खेली। अपनी पारी के दौरान डु प्लेसिस ने 8 चौके और दो छक्के लगाए। डु प्लेसिस आखिरी ओवरों में पारी को रफ्तार नहीं दे पा रहे थे लेकिन कार्तिक ने आखिर बैंगलोर की पारी को रॉकेट स्पीड दी।

दिनेश कार्तिक ने आखिरी ओवर में हाथ खोले तो बेंगलोर का स्कोर 190 के पार पहुंचा। इसके बाद मैदान पर ही कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने उन्हें गले से लगाया। इसके बाद जब वह ड्रेसिंग रूम में पहुंचे तो विराट कोहली ने उन्हें झुककर सलाम किया।