भारतीय क्रिकेट टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ भले ही 3 मैचों की सीरीज के पहले वनडे में हार मिली हो बावजूद इसके कप्तान विराट कोहली की शानदार फील्डिंग की जमकर सराहना हो रही है.

डेब्यूटेंट पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल ने बतौर ओपनर क्रीज पर उतरने के साथ रचा इतिहास

कोहली ने इस मैच में 51 रन की पारी खेली. भारत ने श्रेयस अय्यर (103) के शतक और केएल राहुल (नाबाद 88) के अर्धशतक के दम पर निर्धारित 50 ओवर में 4 विकेट पर 347 रन बनाए जो न्यूजीलैंड में वनडे में उसका दूसरा सर्वाधिक टोटल है.

विराट ने फील्डिंग के दौरान न्यूजीलैंड की ओर से ओपनिंग के लिए आए हेनरी निकोल्स को बेहतरीन तरीक से रनआउट कर उन्हें शतक से रोक दिया. निकोल्स ने 82 गेंदों पर 78 रन की पारी खेली.

29वें ओवर में रॉस टेलर ने जसप्रीत बुमराह की गेंद को पिच के पास ही खेला. हेनरी ने तेजी से एक रन चुराने की कोशिश की. कवर पर फील्डिंग कर रहे विराट तेजी से आए और हवा में उड़ते हुए गेंद को विकेट पर दे मारा. उस समय निकोल्स क्रीज में नहीं पहुंचे थे. इस तरह विराट ने टेलर और निकोल्स की खतरनाक दिख रही साझेदारी को तोड़ा.

कड़क लड़का राहुल- नाम तो सुना ही होगा, श्रेयस अय्यर… ये तुम्हारा साल है: वीरेंद्र सहवाग

विराट की इस बेहतरीन फील्डिंग को देख आईसीसी ने भी ट्वीट करते हुए पूछा कि ये विराट कोहली ही हैं या जोंटी रोड्स? इसके बाद सोशल मीडिया पर संदेशों की बाढ़ सी आ गई.

भारत की ओर से रखे गए 348 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने 11 गेंद बाकी रहते 4 विकेट से जीत दर्ज कर ली. उसकी ओर से अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर ने 84 गेंदों पर 10 चौकों और 4 छक्कों की मदद से नाबाद 109 रन बनाए जबकि कार्यवाहक कप्तान टॉम लैथम 69 रन बनाकर आउट हुए.