We have full confidence in Misbah ul Haq: PCB CEO Wasim Khan
मिसबाह उल हक © Getty Images

फैंस और समीक्षकों की आलोचना के बावजूद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने मिसबाह उल हक को टीम के कोच और चयनकर्ता के पद पर बरकरार रखने का फैसला किया है।

मिसबाह को पाकिस्तान सुपर लीग की इस्लामाबाद यूनाइटेड टीम का मुख्य कोच बनने के लिए बोर्ड की तरफ से खास अनुमति मिली थी। लेकिन उनकी टीम नॉकआउट स्टेज तक पहुंचने से पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई। दो बार खिताब जीत चुकी इस्लामाबाद टीम 2016 के बाद पहली बार शीर्ष चार में भी नहीं पहुंच सकी। जिसकी जिम्मेदारी मिसबाह के ऊपर आ गई।

बोर्ड के सीईओ वसीम खान ने मीडिया से बातचीत में कहा, “जब से उन्हें मुख्य कोच का पद संभाला है हमारी टेस्ट और टी20 क्रिकेट के प्रदर्शन में लगातार सुधार हुआ है। हमें अब भी मिस्बाह पर पूरा भरोसा है लेकिन जैसी कि हमारी नीति है कि हम अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में विश्व टी20 के बाद अपने एक साल के प्रदर्शन की समीक्षा करेंगे।”

पूर्व पाक क्रिकेटर ने कसा तंज ‘अनुभवहीन मिस्बाह-उल-हक को स्कूल टीम को कोच करना चाहिए’

उन्होंने कहा, “हम उसकी एक साल की प्रगति का पूरा पोस्टमॉर्टम करेंगे और फिर किसी नतीजे पर पहुंचेंगे।

हमें उस पर भरोसा है और हमने उसे इस्लामाबाद फ्रेंचाइजी कोच बनाने की अनुमति दी है क्योंकि हम चाहते थे कि वो इस पद पर कुछ अनुभव हासिल करे।”

खान ने आगे कहा, “आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जब वो पाकिस्तान टीम का पूर्णकालिक कोच होता है तो वो पीएसएल से कुछ दिन पहले ही इस्लामाबाद फ्रेंचाइजी में शामिल होता है। हम चाहते थे कि ये मुख्य कोच के रूप में उनके लिए सीखने का अनुभव हो।”

PCB के सीईओ ने कहा- नवंबर में खेले जा सकते हैं PSL के बचे मैच

खान ने कहा कि वो जानते थे कि मिस्बाह PSL में अपने प्रदर्शन से निराश होंगे लेकिन बोर्ड उनसे पूछेगा कि क्या उन्हें इस साल आयरलैंड, हॉलैंड, इंग्लैंड या एशिया कप और विश्व टी 20 के दौरे से पहले किसी और समर्थन की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा, “ये उसके ऊपर है कि टीम के लिए उसकी योजना क्या है लेकिन निश्चित रूप से मुझे यकीन है कि वो और दूसरे चयनकर्ता PSL में खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर विचार करेंगे जब वो एशिया कप और विश्व टी 20 के लिए टीमों को अंतिम रूप देने के लिए बैठेंगे।”