‘We have to glue shoes back after every match’: Zimbabwe cricketer ask for sponsorship, Puma answers
(Twitter/ Ryan Burl)

क्रिकेट दुनिया के सबसे ग्लैमरस खेलों में से एक है। भले ही क्रिकेट की चकाचौंध फुटबॉल के बराबर ना हो लेकिन दुनिया के सबसे अमीर खिलाड़ियों की सूची में कई क्रिकेटरों का नाम शुमार है। हालांकि कई खिलाड़ी ऐसे हैं जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेलने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं।

जहां एक तरफ भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया आईसीसी के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड्स में से एक हैं, जिनके खिलाड़ियों को ट्रेनिंग और मैच के लिए हर आधुनिक सुविधा मिलती हैं। वहीं जिम्बाब्वे जैसे छोटे देशों के क्रिकेट बोर्ड के खिलाड़ियों के लिए मैच के लिए अनुकूल जूतों का प्रबंध करना भी मुश्किल है।

ऐसा ही एक उदाहरण तब देखने को मिला जब जिम्बाब्वे के क्रिकेटर रयान बर्ल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें वो अपने जूतों को ठीक करते नजर आए।

तस्वीर के साथ ट्वीट में उन्होंने लिखा, “क्या हमें कोई स्पॉन्सर मिल सकता है, ताकि हमें हर सीरीज के बाद अपने जूते गोंद से जोड़ने की ज़रूरत ना पड़े।”

जिम्बाब्वे के लिए तीन टेस्ट, 18 वनडे और 25 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके रयान बर्ल ने ट्वीट में न्यू बैलैंस कंपनी को टैग किया जो कई क्रिकेट टीमों को स्पॉन्सर करती है।

हालांकि न्यू बैलेंस ने बर्ल के इस ट्वीट को अनदेखा कर दिया हो लेकिन जर्मन कंपनी प्यूमा ने मदद का हाथ बढ़ाया। बर्ल के ट्वीट के जवाब में प्यूमा क्रिकेट के अकाउंट से लिखा गया, “गोंद रखने का समय आ गया है, हम आपके साथ हैं।”

क्रिकेट फैंस ने प्यूमा के इस कदम की जमकर सराहना की है।