We wanted to make India work hard: Jos Buttler
Jos Buttler of England leaves the field after being dismissed by Jasprit Bumrah ©Getty Image

इंग्लैंड की तरफ से नॉटिंघम टेस्ट में विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर ने शानदार शतकीय पारी खेली। बटलर ने भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना किया और मैच को पांचवें दिन तक खींचने में कामयाब रहे।बटलर ने कहा कि वे नहीं चाहते थे कि भारत के लिए कुछ भी आसान हो। तीसरे टेस्ट मैच को पांचवें दिन तक खींचकर उन्होंने मेहमान टीम को जीत के लिये कड़ी मेहनत करवा दी।

बटलर ने 103 रन बनाए और बेन स्टोक्स के साथ पांचवें विकेट के लिए 169 रन की साझेदारी की। जसप्रीत बुमराह के 85 रन पर पांच विकेट की मदद से इंग्लैंड 521 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए नौ विकेट पर 311 रन बनाकर हार के कगार पर पहुंच गया है। बटलर ने कहा, ‘‘हमारे लिए आज अच्छा प्रदर्शन करना, कभी हार नहीं मानने के जज्बे को दिखाना और भारत को आसानी से जीतने नहीं देना जरूरी था। उन्हें इसके लिए जितना जरूरी हो उतनी कड़ी मेहनत करवाना हमारा उद्देश्य था। हमने पूरे दिन वास्तव में ऐसा अच्छी तरह से किया। यहां तक कि दो खिलाड़ियों ने आखिर में यह सुनिश्चित किया कि मैच पांचवें दिन तक चले।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इससे पता चलता है कि परिस्थितियां कैसी भी हों हम हार नहीं मानते।’’ बटलर और स्टोक्स ने बीच में भारतीयों को परेशान किया। अपना पहला टेस्ट शतक जड़ने वाले बटलर ने कहा कि उन्हें लग रहा था कि वे पूरे दिन भर बल्लेबाजी कर सकते हैं।

अपने शतक के बारे में बटलर ने कहा, ‘‘लंबे समय से इसका इंतजार था तथा कुछ महीने पहले तक यह लाखों मील दूर था। यह मेरे लिये महत्वपूर्ण क्षण है। मुझे नहीं लगता कि मैं इस अहसास को कम करके आंक सकता हूं। व्यक्तिगत तौर पर मैं खुश हूं।’’

(एजेंसी इनपुट)