West Indies vs India, 2nd ODI: Knew I was going to do well, says Shreyas Iyer
श्रेयस अय्यर (IANS)

भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए दूसरे वनडे मैच से पहले जिस खिलाड़ी को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही थी वो थे श्रेयस अय्यर। अय्यर जो कि वेस्टइंडीज दौरे के जरिए एक साल के बाद टीम इंडिया में वापसी कर रहे हैं उन्हें टी20 सीरीज खेलने का मौका नहीं मिला था।

गुआना में खेले गए पहले वनडे के लिए जब अय्यर को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया तो बारिश की वजह से मैच रद्द हो गया और उन्हें बल्लेबाजी करना का मौका नहीं मिला। हालांकि पोर्ट ऑफ स्पेन वनडे में अर्धशतकीय पारी खेलकर अय्यर ने अपने चयन को सही साबित किया।

दूसरे वनडे में अय्यर ने 68 गेंदो पर पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 71 रन की पारी खेली। साथ ही उन्होंने कप्तान विराट कोहली के साथ मिलकर शतकीय साझेदारी भी बनाई। मैच के बाद अपनी इस पारी के बारे में बात करते हुए अय्यर ने कहा था कि उन्हें पहले से पता था कि वो अच्छा खेलेंगे।

मध्यक्रम बल्लेबाज ने कहा, “ये अच्छा दिन था, मुझे पता था कि मैं अच्छा खेलूंगा। मैं इंडिया ए के लिए खेल चुका हूं और इन मैदानों पर भी खेल चुका हूं। मैंने अपने पारी को सही गति से आगे बढ़ाया और मुझे लगता है कि ये सही रहा। मैंने सोचा कि मैं खतरे नहीं उठाउंगा, विराट ने मुझसे कहा कि हमें साझेदारी की जरूर है और पारी को गहराई तक ले जाना होगा। उन्होंने मेरा अच्छा साथ दिया, हमने एक रन को दो में बदला, मौका मिलने पर बाउंड्री भी लगाई।”

टॉप 3 बल्लेबाजों का बड़ी पारी खेलना जरूरी, आज मेरी बारी थी: कोहली

अय्यर ने आगे कहा, “हमने निश्चित किया था कि 250 अच्छा स्कोर होगा, जाहिर है कि हमें 30 अतिरिक्त रन मिले। उन्होंने मुझसे 45वें ओवर तक बल्लेबाजी करने को कहा, मैं शुक्रगुजार हूं कि मैं ऐसा कर सका।”

जहां एक तरफ अय्यर अपनी पारी से खुश हैं, वहीं उनके मन में एक डर भी होगा। अय्यर को कभी भी टीम इंडिया में लगातार मौके नहीं मिले हैं। वो कुछ मैच खेलते हैं और एक-दो खराब पारियों के बाद खुद को टीम से बाहर पाते हैं। हालांकि इस बार वो निरंतर प्रदर्शन कर टीम में टिके रहना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “मैं कुछ समय तक टीम में रहना चाहता हूं, निरंतरता हमेशा जरूरी होती है। मैं अच्छा खेलना चाहता हूं और टीम के लिए योगदान देना चाहता हूं।”