West Indies vs India, 2nd Test: Batsman needs to apply themselves have and grind to get the score, says Kemar Roach
केमार रोच © Getty Images

भारत के खिलाफ पहला टेस्ट मैच 318 रन के बड़े अंतर से हारने के बाद वेस्टइंडीज टीम दूसरे मैच में भी मुश्किल स्थिति में फंसी है। जमैका टेस्ट के तीसरे दिन 45 रन पर दो विकेट खोने के बाद विंडीज टीम को जीत के लिए 423 रन की जरूरत है। ऐसे में केमार रोच चाहते हैं कि बल्लेबाज हार मानने की बजाय कड़ी मेहनत कर स्कोर हासिल करें।

तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रोच ने कहा, “हमारे पास जरूरत से ज्यादा समय है। मैच में अभी दो दिन बाकी है, बस बल्लेबाजी करें, इससे ज्यादा कुछ कहने की जरूरत नहीं है। खिलाड़ियों ने इस सीरीज में अब तक खास बड़ा स्कोर नहीं बनाया है, इसलिए बात केवल बाहर जाकर, सकारात्मकता के साथ खेलते हुए बोर्ड पर रन लगाने की है।”

विंडीज गेंदबाज ने आगे कहा, “पिच थोड़ी और सपाट हुई है। शुरुआती दिनों की तुलना में उछाल कम है। गेंदबाजों के लिए अब भी काफी मदद है। बतौर बल्लेबाज आपको स्कोर करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी लेकिन एक बार आप सेट हो गए तो काम आसान हो जाएगा। इसलिए बात सकारात्मक रहने और मेहनत से स्कोर हासिल करने की है।”

बिग बैश और कैरेबियन प्रीमियर लीग में खेलना चाहते हैं युवराज सिंह

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक वेस्टइंडीज के दो शीर्ष क्रम बल्लेबाज डैरेन ब्रावो (18*) और शामराह ब्रूक्स (4*) क्रीज पर टिके हुए हैं। वहीं रोच का कहना है कि जरूरत पड़ने पर वो भी बल्लेबाजी में योगदान देने के लिए तैयार हैं।

इस तेज गेंदबाज ने कहा, “हां, मुझे बल्लेबाजी पर मुझे काफी आत्मविश्वास है। मैं अपनी काबिलियत का समर्थन कर रहा हूं और मैं बाहर जाकर गेंद को हिट करने की अपनी प्रतिभा पर भरोसा कर रहा हूं। मैं (बल्लेबाजी प्रदर्शन) अच्छा कर रहा हूं और मुझे इस पर गर्व है। मैं चीजों को सरल रखता हूं, मुझे अपने शॉट्स पता हैं और मैं गेंद के अपने इलाके में आने का इंतजार करता हूं।”

जसप्रीत बुमराह निश्चित तौर पर बाकी गेंदबाजों से ऊपर है: युवराज सिंह

बल्लेबाजी तो बाद में आएगी लेकिन रोच ने भारतीय टीम की दूसरी पारी के दौरान शानदार गेंदबाजी की। मैच की शुरुआत से ही सही लाइन लेंथ में गेंदबाजी कर रहे रोच ने 10 ओवर में तीन विकेट हासिल किए, जिसमें विराट कोहली का गोल्डन डक विकेट भी शामिल हैं।

रोच ने 21वें ओवर की पहली दो गेंदो पर केएल राहुल और फिर कोहली को लगातार आउट किया लेकिन तीसरी गेंद पर अजिंक्य रहाणे को आउट नहीं कर पाने की वजह से वो हैट्रिक से चूक गए। हालांकि गेंद जब रहाणे के बल्ले के अंदरूनी किनारे से लगी तो रोच को लगा कि उन्हें विकेट मिल जाएगा लेकिन गेंद स्टंप्स की तरफ नहीं गई।

हैट्रिक से चूकने पर रोच ने निराशा जताई। उन्होंने कहा, “अंदरूनी किनारा लगा और गेंद स्टंप्स पर नहीं लगी- थोड़ा बदकिस्मत रहा लेकिन जो हुआ उससे मैं खुश हूं। ये अच्छा एहसास है। जाहिर तौर पर भारत का बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत है इसलिए उनके खिलाफ हैट्रिक की स्थिति में आना एक अच्छा एहसास है। मैं (हैट्रिक) चाहता था लेकिन अगर किस्मत साथ देती है और गेंद स्टंप्स पर लगती तो ये मेरे पक्ष में जाता। लेकिन मैं खुश हूं।”

दूसरी पारी में भी चला हनुमा विहारी का जादू, जीत के करीब भारत

नतीजा चाहे जो भी हो वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने दोनों ही मैचों में कमाल का प्रदर्शन किया है, जिसकी अगुवाई कप्तान जेसन होल्डर और रोच ने की। इस पर उन्होंने कहा, “बतौर गेंदबाजी यूनिट अब तक किए प्रदर्शन से हम संतुष्ट हैं। खिलाड़ियों को शुभकामनाएं। मैं अपने लिए भी खुश हूं, इन दिग्गजों के बीच होना, ये मेरे लिए बड़ी उपलब्धि है।”

रोच ने अपने डेब्यू मैच खेल रहे ऑफ स्पिनर रखीम कॉर्नवाल के भी तारीफ की। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि उसने पूरे मैच में अच्छी गेंदबाजी की। भारतीय बल्लेबाजों, जो कि स्पिन को अच्छा खेलते हैं, उनके खिलाफ स्थितियों का अच्छा इस्तेमाल किया। मेरे विचार से उसने एक छोर से अपना काम अच्छे से किया, दबाव बनाया और दूसरे गेंदबाज को विकेट लेने का मौका दिया।”

उन्होंने आगे कहा, “वो टीम का हिस्सा है, वेस्टइंडीज में उसका भविष्य अच्छा है। मैं उम्मीद करता हूं कि वो टिका रहे और हमारे लिए और अच्छा प्रदर्शन करता रहे।”