Advertisement

'उसको छोड़ दे...' जब ईशांत ने नाराज कोहली को बुमराह से बात करने से रोका

'उसको छोड़ दे...' जब ईशांत ने नाराज कोहली को बुमराह से बात करने से रोका

विराट कोहली उस स्पैल में जसप्रीत बुमराह की गेंदबाजी से निराश थे. कोहली उनसे बात करना चाहते थे लेकिन ईशांत शर्मा ने उन्हें रोक दिया... लेकिन क्यों...

Updated: February 6, 2023 9:01 AM IST | Edited By: Bharat Malhotra
नई दिल्ली: साल 2018 की बात है. जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था. साल की शुरुआत में ही उन्हें टेस्ट टीम में मौका मिल गया था. साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उन्हें टीम में शामिल किया गया था. इससे पहले बुमराह को सफेद गेंद का विशेषज्ञ माना जाता था. उस साल उन्होंने 9 टेस्ट मैचों में 21 के करीब के औसत से 48 विकेट लिए थे. इसमें तीन बार पारी में पांच विकेट भी शामिल थे. वह भारत के लिए साल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाद थे. हालांकि एक पारी ऐसी थी जहां वह उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए. इससे भारतीय कप्तान विराट कोहली काफी निराश थे. कोहली उनसे बात करना चाहते थे लेकिन एक सीनियर तेज गेंदबाज ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया.

ईशांत शर्मा, वह तेज गेंदबाज थे जिन्होंने बहुत जल्द ही बुमराह की लीडरशिप क्वॉलिटी को पहचान लिया था. उन्हें इस बात का अहसास हो गया था कि बुमराह बहुत जल्द भारतीय गेंदबाजी के अगुआ बन सकते हैं. ईशांत ने माना कि उन्हें पता चल गया था कि बुमराह परिस्थिति को पहचानने की काबिलियत रखते हैं.

इसी वजह से जब कोहली साल 2018/19 में ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान एक टेस्ट मैच में बुमराह के खराब स्पैल से नाराज थे तो शर्मा ने उन्हें बुमराह से बात करने से रोक दिया था.

ईशांत शर्मा ने क्रिकबज के नए शो 'राइज विद न्यू इंडिया' में कहा, 'मुझे पता था कि एक दिन आएगा जब बुमराह एक लीडर बनेगा. मुझे याद है साल 2018 में एक टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच के दौरान उसका पहला स्पैल अच्छा नहीं गया था. विराट ने मुझे कहा, 'मुझे लगता है कि मुझे जाकर उससे बात करनी चाहिए.' मैंने कहा, 'वह बहुत स्मार्ट बोलर है. उसे समझ है. उसको छोड़ दे. उसको पता है क्या करना है, क्या नहीं करना है.' जब आप परिस्थिति को समझते हैं, खास तौर पर टेस्ट क्रिकेट में, तो आप बहुत जल्दी वापसी कर सकते हैं.'

बुमराह उस सीरीज में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे. उन्होंने चार मैचों में 21 विकेट लिए थे. इसमें एक बार पारी में पांच विकेट भी शामिल थे. भारत ने ऑस्ट्रेलिया में वह यादगार सीरीज जीती थी.
Advertisement
Advertisement