इरफान पठान © Getty Images
इरफान पठान © Getty Images

भारतीय टीम में वापसी की बाट जोह रहे इरफान पठान ने हाल ही में एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। नागपुर में एक निजी कार्यक्रम के दौरान इरफान पठान ने उनके साथ घटी एक घटना का जिक्र किया। ये घटना इरफान पठान के साथ पाकिस्तान के लाहौर में हुई थी। इरफान ने कार्यक्रम में कहा कि जब मैं लाहौर में था तो एक लड़की मेरे पास आई और उसने मुझसे कहा कि आप मुस्लिम होकर भारत के लिए क्रिकेट क्यों खेलते हैं?, इस सवाल का इरफान ने जो जवाब दिया था उसने हर किसी का दिल जीत लिया था।

इरफान ने उस सावल पर कहा, ”भारत के लिए खेलना मेरे लिए गर्व की बात है।” इरफान ने साथ ही कहा कि ऐसे वाक्ये मेरे करियर के दौरान कई बार आए। लेकिन इन सभी घटनाओं से मैं खुद को प्रेरित करता रहा। साथ ही इन घटनाओं से मुझे और अच्छा करने की प्रेरणा मिली। पठान ने कहा कि मेरे करियर का सबसे यादगार पल वह रहा जब सौरव गांगुली ने मुझे पदार्पण कैप दी थी। पठान को भारत का सबसे अच्छा स्विंग गेंदबाज माना जाता रहा है। पठान ने भारत के लिए 29 टेस्ट, 120 वनडे और 24 टी20I मैच खेले हैं। पठान ने हाल ही में कहा था कि वह आशीष नेहरा से भारतीय टीम में वापसी के लिए प्रेरणा ले रहे हैं और वापसी की कोशिस में लगे हैं। भारत बनाम बांग्लादेश चौथे टेस्ट के लाइव ब्लॉग को पढ़ने के लिए क्लिक करें

पठान न कहा कि नेहरा ने एक संदेश दिया है कि सब फिटनेस और अच्छे प्रदर्शन का खेल है। उम्र नहीं बल्कि आपकी फिटनेस और प्रदर्शन माएने रखता है। नेहरा मेरे जैसे उन सभी खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा हैं, जो अभी भी टीम में वापसी की उम्मीद लगाए बैठे हैं। पठान ने इसके साथ ही कहा, मैं वापसी पर नहीं, बल्कि अच्छे प्रदर्शन पर यकीन रखता हूं। मैं वापसी के बारे में कभी नहीं सोचता, मेरा मानना है अगर आप बेहतरीन खेलेंगे तो वापसी करने में कामयाब जरूर होंगे। इसलिए मैं घरेलू क्रिकेट खेल रहा हूं और अभी भी बड़े मंच पर खेलने को लेकर उत्सुक हूं। मैंने हाल ही में घरेलू टी20 मैचों में अच्छा खेल दिखाया है और मैं हम मौके का भरपूर फायदा उठाना चाहता हूं।