who is Anderson Peters beat neeraj chopra in world atheletics championship final

Who is Anderson Peters: आखिर वही हुआ जिसका अंदेशा था। वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में गोल्ड मेडल और नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) की राह में एक सबसे बड़ी बाधा थी। ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स। इस खिलाड़ी ने नीरज को गोल्ड मेडल जीतने से तो रोक दिया लेकिन इतिहास रचने से नहीं रोक पाया। नीरज ने चांदी का तमगा अपने नाम किया। ओलिंपिक चैंपियन नीरज ने क्वालिफिकेशन राउंड में 88.39 मीटर का थ्रो किया था।

क्या हुआ फाइनल में

पीटर्स ने 90.54 मीटर का भाला फेंककर सोने का तमगा जीता। वहीं नीरज 88.13 मीटर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाए। यहा उनके क्वॉलिफिकेशन राउंड से भी कम रहा। एंडरसन ने पहले ही थ्रो में 90.21 मीटर भाला फेंककर अपने इरादे जाहिर कर दिए थे। इसके बाद नीरज के लिए गोल्ड मेडल जीतने के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से भी बेहतर करना लाजमी था।

दूसरा थ्रो- एंडरसन ने फिर एक बार 90 मीटर पार किया। इस बार 90.46 मीटर। पहले से भी बेहतर। वहीं नीरज का पहला थ्रो जहां फाउल था, दूसरे थ्रो में उन्होंने 82.39 मीटर दूर भाला फेंका।

तीसरे प्रयास में पीटर्स ने 87.21 और नीरज ने 86.37 मीटर दूर भाला फेंका। पीटर्स ने चौथे प्रयास में 88.11 मीटर और नीरज ने 88.13 मीटर का भाला फेंका। पीटर्स का पांचवां प्रयास 85.83 और छठा 90.54 मीटर रहा। वहीं नीरज का पांचवां और छठा प्रयास फाउल रहा।

पीटर्स क्वालिफेकेशन राउंड में टॉप पर रहे थे। यहां उन्होंने 89.91 मीटर भाला फेंककर अपने इरादे जाहिर कर दिए थे। दोनों हमउम्र हैं। साल 2016 की बात है। नीरज ने आईएएएप वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप में गोल्ड जीता। और पीटर्स तीसरे स्थान पर रहे। 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में नीरज फिर पहले स्थान पर रहे और पीटर्स को ब्रॉन्ज मेडल मिला। ओलिंपिक की बात करें तो नीरज ने ऐतिहासिक सोने का तमगा जीता तो पीटर्स फाइनल में जगह भी नहीं बना पाए।

लेकिन इस साल एंडरसन के रंग और इरादे अलग नजर आए। स्टॉकहोम डायमंड लीग में नीरज ने 89.94 मीटर भाला फेंककर नैशनल रिकॉर्ड बनाया। लेकिन पीटर्स ने यहां 90 मीटर से ज्यादा थ्रो किया। 90.31 मीटर। यहां चोपड़ा उनसे पिछड़ गए। इसी साल दोहा में भी उन्होंने 93.07 मीटर का थ्रो कर दिया था।