who is ryan burl zimbabawe leg spinner who shattered australia in 3rd odi
ryan burl (AFP photo)

शनिवार, 3 सितंबर का दिन जिम्बाब्वे क्रिकेट के लिए यादगार रहेगा। पहली बार उसने ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर वनडे इंटरनैशनल में हराया। सीरीज के तीसरे और आखिरी मुकाबले में उसने तीन विकेट से जीत हासिल की। जिम्बाब्वे ने पहले ऑस्ट्रेलिया को 141 रन रन पर समेट दिया और उसके बाद सात विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। ऑस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वॉर्नर ने 94 रन बनाए लेकिन कोई अन्य बल्लेबाज जरूरी लय हासिल नहीं कर सका। लेकिन जिम्बाब्वे की इस ऐतिहासिक जीत के नायक रहे रयान बर्ल। बर्ल कहने को मिडल-ऑर्डर बल्लेबाज हैं लेकिन आज उन्होंने गेंद से ऐसा कमाल किया कि कंगारू बल्लेबाज उछलते हुए नजर आए।

बर्ल ने सिर्फ 10 रन देकर पांच विकेट अपने नाम किए। ऑस्ट्रेलिया की पारी कभी भी सही पटरी पर नहीं आई। पहला विकेट 9 रन के स्कोर पर गिरा और एक रन बाद ही स्टीव स्मिथ भी आउट हो गए। विकेट गिरते रहे लेकिन इस बीच वॉर्नर लगे रहे।

लिए ये विकेट

इस लेग स्पिनर ने डेविड वॉर्नर, ग्लेन मैक्सवेल, एश्टन एगर, मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड को आउट किया।

जिम्बाब्वे की ओर से ब्रैड इवांस ने एलेक्स कैरी और मार्किस स्टॉयनिस के विकेट लिए। एक बार ऊपरी बल्लेबाजों के आउट होने के बाद बर्ल ने लोअर मिडल ऑर्डर और लोअर ऑर्डर को फटाफट समेटा। उन्होंने सिर्फ तीन ओवरों में 10 रन देकर पांच विकेट लिए। इससे पहले सीरीज के पहले वनडे में भी उन्होंने 60 रन देकर तीन विकेट लिए थे।

जिम्बाब्वे हालांकि सीरीज में 1-2 से हार गई लेकिन यह ऑस्ट्रेलिया की धरती पर उसकी पहली वनडे जीत है।

रायन की बात करें तो उन्हें पहले स्कावश खेलना पसंद था। लेकिन क्रिकेट का प्यार और टीम गेम का अपनापन उन्हें इस खेल की ओर ले आया। कहने को वह मिडल-ऑर्डर बल्लेबाज हैं और पार्ट टाइम ही लेग स्पिन करते हैं। 2017 में वह जिम्बाब्वे की टीम में आए। वह बीबीएल का भी हिस्सा रह चुके हैं।

जिस पीटरहाउस स्कूल से बर्ल आते हैं, खेलों में उसका लंबा इतिहास है। यहां से इंग्लैंड के लिए खेलने वाले गैरी बैलेंस, टॉम और सैम करन, इटली के रग्बी स्टार सेबिस्टियन नेगरी और ओलिंपिक नाविक पीटर पर्सल गिलपिन आते हैं।