Will have to adapt: Neesham on playing behind closed doors

न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर जेम्स नीशम का कहनाह है कि कोविड-19 महामारी के कारण दुनियाभर में क्रिकेट को हो रहे वित्तीय नुकसान से निपटने के लिए खिलाड़ियों को खाली स्टेडियम में खेलने का अभ्यस्त होना पड़ेगा।

विराट कोहली से बाबर आजम की तुलना करना अभी जल्दबाजी होगी : यूनिस खान

भारत के अलावा दुनियाभर में क्रिकेट की आर्थिक स्थिति पर नयंत्रण रखने वाले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट बोर्ड को डर है कि मैचों के रद्द होने के कारण राजस्व में कमी से उन्हें गंभीर वित्तीय संकट का सामना करना पड़ सकता है।

शीर्ष स्तर के क्रिकेट के जल्द वापसी के आसार नहीं है और अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाला टी20 विश्व का भविष्य भी अधर में है।

नीशाम ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ‘अगर स्थिति यही रही तो क्रिकेट खेलने का एकमात्र तरीका है कि स्टेडियम में दर्शकों के बिना इसका आयोजन हो। हम खिलाड़ियों को इसके मुताबिक ढलना होगा।’

COVID-19: ऑस्ट्रेलिया में 6 जून से शुरू होगा क्लब क्रिकेट

नीशाम ने कहा, ‘वास्तविकता यह है कि बहुत सारे क्रिकेट बोर्डों के लिए यह एक बड़ी वित्तीय चुनौती है कि वे अभी भी बिना किसी राजस्व के बोर्ड का संचालन कर रहे है।’

उन्होंने कहा, ‘ऐसे में हमें कोशिश करनी चाहिए की जितना संभव हो सके उतना खेल को जारी रखा जाए। अगर इसका मतलब यह है कि हमें दर्शकों के बिना खेलना होगा तो इसे शुरू करने की जरूरत है।’