World Cup: No time for rest, our first four matches is against bigger teams, says Virat Kohli
Virat Kohli (File Photo) @ IANS

भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि राउंड रोबिन प्रारूप में दमदार प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ खेलने से आगामी विश्व कप बेहद चुनौतीपूर्ण बन गया है। ऐसेे में पहली गेंद से ही जुझारू बने रहना टीम के लिये अहम होगा। इससे पहले दो विश्व कप में खेल चुके कोहली ने कहा कि उनके लिये आराम का कोई समय नहीं है क्योंकि उन्हें शुरू में ही चार कड़े मैच खेलने हैं।  (India’s World Cup Team)

विश्व कप में 1992 के बाद पहली बार राउंड रोबिन प्रारूप अपनाया जा रहा है जिसमें प्रत्येक टीम हर टीम से भिड़ेगी। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच जून को अभियान शुरू करने के बाद भारत नौ जून को ऑस्ट्रेलिया, 13 जून को न्यूजीलैंड और 16 जून को पाकिस्तान से भिड़ेगा।  (India’s World Cup Schedule)

पढ़ें:- कुलदीप की खराब फॉर्म को लेकर विराट का बड़ा बयान, बोले अच्‍छा है..

उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी टीम किसी को भी हरा सकती है। यह बात हमारे दिमाग में है। हमारा ध्यान अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने पर होगा। आपको हर मैच में अपनी क्षमता का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा क्योंकि यहां ग्रुप चरण जैसी स्थिति नहीं है।’’

कोहली ने कहा, ‘‘प्रत्येक टीम से एक बार खेलना सभी टीमों के लिये बहुत अच्छा है। यह अलग तरह की चुनौती होगी और हर टीम को तेजी से सामंजस्य बिठाना होगा।’’
टीम के पहले चार मैचों के बारे में कोहली ने कहा, ‘‘इससे हमारे लिये लय बनेगी। हर किसी को अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा और पहले मैच से ही प्रबल बने रहना होगा। आत्ममुग्धता के लिये कोई स्थान नहीं है और इसलिए यह विश्व कप और सबसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है।’’

पढ़ें:- ”अगर टीम अपनी क्षमता पर खेली तो विश्व कप भारत में होगा”

उन्होंने कहा, ‘‘आपको मैच वाले दिन शत प्रतिशत तैयारी के साथ मैदान पर उतरना होगा और वहां से लय बनानी होगी। यही चुनौती है। अगर आप फुटबाल के शीर्ष क्लबों को देखो तो वे चाहे प्रीमियर लीग हो या ला लिगा, तीन चार महीनों तक अपनी जुझारूपन बनाये रखना होगा। फिर हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते। अगर हमने लय पकड़ ली और हम अपनी निरंतरता बनाये रखते हैं तो हमें पूरे टूर्नामेंट में इसे बरकरार रखना चाहिए।’’

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच हाल की सीरीज में बड़े स्कोर देखने को मिले लेकिन कोहली ने कहा कि विश्व कप में चीजें बदल सकती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘जैसा मैंने कहा कि पिचें बहुत अच्छी होंगी। यह गर्मियों का समय है और परिस्थितियां शानदार होंगी। हम बड़े स्कोर वाले मैचों की उम्मीद कर रहे हैं लेकिन द्विपक्षीय सीरीज की तुलना विश्व कप से नहीं की जा सकती है। यह अलग तरह का है।’’

पढ़ें:- मैच पलट सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी: रवि शास्त्री

कोहली ने कहा, ‘‘इसलिए हम 260-270 वाले मैचों की उम्मीद भी कर सकते हैं। हम विश्व कप में हर तरह की परिस्थिति की उम्मीद कर सकते हैं।’’ कोहली ने कहा कि उनका गेंदबाजी आक्रमण चुनौती के लिये तैयार है। ‘‘टीम में शामिल सभी गेंदबाज, यहां तक कि आईपीएल में भी 50 ओवर की क्रिकेट के लिये खुद को तैयार कर रहे थे। आपने सभी गेंदबाजों को गेंदबाजी करते हुए देखा होगा। कोई भी चार ओवर करने के बाद थका हुआ नहीं दिखा। सभी तरोताजा है। उनके दिमाग में शुरू से ही यही बात रही कि 50 ओवरों के मैच के लिये तैयार रहना है।’’