Would have preferred 16-man squad for World Cup says coach Ravi Shastri
Virat Kohli, Ravi Shastri and Rohit Sharma

आईसीसी विश्व कप के लिए चुनी गई टीम पर लगातार चर्चा हो रही है। भारतीय कोच रवि शास्त्री ने बुधवार को कहा कि वह विश्व कप के लिए 15 खिलाड़ियों की सूची के जगह 16 सदस्यीय टीम पसंद करते और जो इसमें जगह नहीं बना सके, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है।

भारत ने 30 मई से इंग्लैंड में शुरू होने वाले विश्व कप के लिए सोमवार को 15 सदस्यीय टीम की घोषणा की और चयनकर्ताओं द्वारा युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत और अनुभवी अंबाती रायडू को नहीं चुने जाने से बहस का सिलसिला शुरू हो गया।

शास्त्री ने ‘स्पोर्ट360’ वेबसाइट से कहा, ‘‘मैं चयन के मामलों में शामिल नहीं होना चाहता। अगर हमारी कोई राय होती है तो, हम इसे कप्तान को बताते हैं।’’

पढ़ें:- ICC World Cup 2019: इंग्‍लैंड जाने वाले भारतीय स्‍क्‍वाड के बारे में जानें

उन्होंने कहा, ‘‘जब आपको 15 खिलाड़ियों का ही चयन करना है तो ऐसा होना लाजमी ही है कि किसी न किसी को बाहर करना पड़ेगा जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं 16 खिलाड़ियों को शामिल करना चाहता था। हमने आईसीसी को भी इसका जिक्र किया था जब एक टूर्नामेंट इतना लंबा हो तो 16 खिलाड़ियों को रखना सही होगा। लेकिन आदेश 15 खिलाड़ियों का ही था।’’

शास्त्री ने कहा कि जो 15 खिलाड़ियों की सूची में जगह नहीं बना सके, उन्हें आगे देखना चाहिए क्योंकि मौका कभी भी मिल सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘जो इसमें जगह नहीं बना सके, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। यह काफी अजीब सा खेल है। इसमें चोटें लग सकती हैं। इसलिए आपको नहीं पता कि आपको भी बुलावा मिल सकता है।’’

पढ़ें:- विश्व कप के लिए भारतीय टीम काफी मजबूत : शिखर धवन

जब विजय शंकर के चौथे स्थान के लिए पूछा गया जबकि कप्तान विराट कोहली ने कुछ महीने पहले ही रायडू को इस स्थान के लिए दौड़ में सबसे आगे बताया था तो शास्त्री ने कहा कि यह स्थान हमेशा ही लचीलापन लिए होता है।

उन्होंने कहा, ‘‘परिस्थितियों और प्रतिद्वंद्वी को देखते हुए चौथे नंबर का स्थान पूरी तरह से लचीला है। मैं कहूंगा कि टॉप तीन…के बाद आप बहुत ही लचीले हो सकते हो।’’

पढ़ें:- पंत भारत के विश्व कप प्लेइंग इलेवन में ‘एक्स-फैक्टर’ हो सकते थे- पोंटिंग

शास्त्री ने उन आलोचनाओं को भी खारिज कर दिया जिनमें कहा जा रहा था कि भारत कोहली पर अति निर्भर दिखता है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप पिछले पांच सालों को देखो तो जिस तरह से भारतीय टीम ने प्रदर्शन किया है, वह हमेशा ही टॉप दो या तीन में रही है। जब टीम लगातार पांच सालों तक टॉप दो या तीन में बने रहती है और टेस्ट में नंबर एक तथा फिर टी20 क्रिकेट में टॉप तीन में रहती है तो आप किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं हो सकते।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जब आपका रिकॉर्ड इतना निरंतर है तो आपके खिलाड़ियों के हर समय प्रदर्शन करने की जरूरत होती है। इसका श्रेय टीम को जाता है।’’

इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप के बारे में बात करते हुए शास्त्री ने कहा, ‘‘इंग्लैंड पिछले दो सालों से लगातार प्रदर्शन करने वाली टीम रही है। उनके पास बहु आयामी प्रतिभा वाले खिलाड़ी हैं। उनके पास गेंदबाजी और बल्लेबाजी में गहराई है। और वे अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे हैं। इसलिए वे प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन ऐसी कई टीमें हैं जो किसी भी दिन किसी भी टीम को हराने का माद्दा रखती हैं। विश्व कप जैसे टूर्नामेंट में आपको अपने हर मैच में अपने खेल में टॉप पर होना होगा।’’