भारत और न्‍यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच होने वाले वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल (ICC World Test Championship 2021 Final) से पहले मुख्‍य कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) ने एक मैच की जगह विजेता का चुनाव करने के लिए तीन मैचों की टेस्‍ट सीरीज आयोजित करने का सुझाव दिया था. इस मामले में अब आईसीसी की तरफ से भी अपनी स्थिति साफ कर दी गई है.

आईसीसी का कहना है कि मौजूदा वक्‍त में व्‍यस्‍त अंतरराष्‍ट्रीय कैलेंडर को देखते हुए तीन मैचों की टेस्‍ट सीरीज आयोजित करना व्‍यवहारिक नहीं है.आईसीसी के कार्यवाहक प्रमुख ज्योफ एलार्डिस ने कहा, “अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट के शेड्यूल की सच्‍चाई ये है कि हम इस वक्‍त तीन मैचों की टेस्‍ट सीरीज आयोजित करने के लिए पूरा एक महीना नहीं निकाल सकते हैं. ऐसा करने के लिए हमें सभी अंतरराष्‍ट्रीय टीमों का एक महीना ब्‍लॉक करना पड़ेगा. यही वजह है कि एक मैच का फाइनल कराने का निर्णय लिया गया.”

वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप की शुरुआत विश्‍व कप 2019 के बाद हुई थी. नियम के मुताबिक हर द्विपक्षीय सीरीज के लिए 120 अंक निर्धारित किए गए थे. इसपर भी काफी सवाल उठे. बाद में कोरोना महामारी को देखते हुए अंकों की जगह जीत के प्रतिशत के आधार पर टॉप-2 टीमें चुनी गई. जिसे लेकर आईसीसी की काफी आलोचना भी हुई.

आईसीसी प्रमुख ने कहा, ” जिस तरह से चीजों का आयोजन हुआ उससे हम काफी खुश हैं. कुछ सीरीज के आयोजन में देखने वालों की दिलचस्‍पी महज उन दो देशों तक ही सीमित नहीं रही है. अन्‍य क्रिकेट खेलने वाले देशों में भी इन्‍हें देखा गया है. यही वो चीज है जिसे हम करना चाहते हैं.”