Team India Qualify in ICC World Test Championship Final: अहमदाबाद टेस्ट में भारत ने इंग्लैंड (IND vs ENG) को चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में पारी और 25 रन से हराकर 3-1 से यह सीरीज को अपने नाम कर ली है. इसके साथ-साथ टीम इंडिया ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship 2021) में भी क्वॉलीफाई कर लिया है. 18 से 23 जून को लॉर्ड्स में होने वाले इस खिताबी इस मैच में टीम इंडिया का मुकाबला अब न्यूजीलैंड (WTC Final: IND vs NZ) से होगा.

कीवी टीम इस खिताबी मुकाबले के लिए पहले ही अपनी जगह पक्की कर चुकी थी, जबकि भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाली इस सीरीज से दूसरी टीम का नाम पक्का होना था, जिसके लिए 3 टीमें (भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया) दावेदार थीं. अंत में टीम इंडिया ने इसमें बाजी मार ली. अब इस टेस्ट चैंपियनशिप के लिए भारत अंकतालिका में पहले स्थान पर पहुंच गया है.

https://twitter.com/ICC/status/1368145335751761920?s=20

हालांकि इस खिताबी मुकाबले से इंग्लैंड की टीम सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच हारने के बाद ही बाहर हो गई थी. चौथे टेस्ट मैच में भारत को अपनी हार टालनी थी. अगर भारत यहां हार जाता तो इस चैंपियनट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया को खेलने का मौका मिलता. लेकिन भारत ने यह मैच जीतकर इंग्लैंड के बाद ऑस्ट्रेलिया के अरमानों पर भी पानी फेर दिया.

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का आयोजन पहली बार हो रहा है और भारत को इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई इस सीरीज में कम से कम 4-0, 3-0, 3-1, 2-0 या फिर 2-1 में किसी एक आंकड़े से यह सीरीज अपने नाम करनी थी. भारतीय टीम ने आखिरकार 3-1 के रिजल्ट से यह सीरीज अपने नाम करते हुए यहां अपना स्थान पक्का किया.

हालांकि अंतिम परिणाम के बाद इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई यह सीरीज अब भले एकतरफा लग रही हो, लेकिन टीम इंडिया को मेहमान इंग्लैंड ने पहले टेस्ट मैच में 227 रनों के विशाल अंतर से मात देकर सीरीज का रोमांच बढ़ा दिया था. हालांकि दूसरे और तीसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया इंग्लैंड की एक नहीं चलने दी और चौथे टेस्ट मैच में उसे सिर्फ ड्रॉ की जरूरत थी.

हालांकि वर्ल्ड चैंपियनशिप की राह से खुद बाहर हो चुकी इंग्लैंड ने चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन भारत पर दबाव बनाकर ऑस्ट्रेलिया के लिए चांस जरूर बनाया था. एक वक्त टीम इंडिया 146 पर अपने 6 विकेट गंवा चुकी थी. लेकिन यहां से (Rishabh Pant) रिषभ पंत (101) और (Washington Sundar) वॉशिंग्टन सुंदर (96*) की बेहतीन पारियों की बदौलत इंग्लैंड वापस दबाव में घिर गया और यह मैच हारकर उसने ऑस्ट्रेलिया की उम्मीद को एक भी फिर से डुबो दिया.