ICC World Test Championship Final 2021, India vs New Zealand: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने शुक्रवार को रोमांचक फाइनल में भारत को हराकर पहले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) का खिताब जीतने पर न्यूजीलैंड को बधाई दी. यह न्यूजीलैंड के लिए साल 2000 के आईसीसी की पहली बड़ी ट्रॉफी है. टीम इससे पहले 2015 और 2019 में लगातार दो बार एकदिवसीय विश्व कप फाइनल में पहुंची थी. न्यूजीलैंड ने करीबी मुकाबले में भारतीय टीम की दूसरी पारी को 170 रन पर समेट दिया. टीम को इसके बाद साउथम्पटन में दूसरी पारी में जीत के लिए 139 रन का लक्ष्य मिला जिसे उसने दो विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया.

आईसीसी के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) ज्योफ एलार्डिस ने कहा, ‘‘मैं पहले विश्व टेस्ट चैंपियन ब्लैक कैप्स (न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम) को बधाई देना चाहता हूं, जिन्होंने दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम बनने के लिए शानदार कौशल और जज्बा दिखाया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं भारतीय टीम को भी बधाई देना चाहता हूं, जिसने फाइनल के लिए क्वालीफाई करने के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन किया और जीतने के इतने करीब पहुंच गये थे.’’

एलार्डिस ने कहा कि दोनों टीमों ने शानदार कौशल दिखाया और यह टेस्ट क्रिकेट का बेहतरीन मैच था जो दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों को लंबे समय तक याद रहेगा. उन्होंने कहा, ‘‘मैच को अच्छी भावना के साथ खेला गया था जिसने दोनों टीमों के एक दूसरे के प्रति सम्मान को दर्शाया.’’

पहले और चौथे दिन का खेल खराब मौसम के कारण पूरी तरह से धुल जाने मैच को रिजर्व (छठे) दिन में खेला गया, जिस दौरान न्यूजीलैंड को टेस्ट गदा उठाने के मौका मिला. एलार्डिस ने कहा, ‘‘दो साल की विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान केन (विलियमसन) और विराट (कोहली) दोनों ने टेस्ट गदा जीतने की अपनी इच्छा को कभी छुपाया नहीं. इसे पिछले छह दिनों में साफ तौर पर देखा जा सकता है. दुनिया की दो सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीमों के बीच यह उपयुक्त मुकाबला था जिससे मैच रोमांचक हुआ.’’

खेल के सबसे लंबे प्रारूप को अधिक महत्व देने के लिए 2019 में डब्ल्यूटीसी की शुरुआत के ढाई साल के बाद फाइनल के साथ इसका समापन हुआ. उन्होंने कहा, ‘‘विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पहले सत्र का समापन हमारे खेल के लिए एक विशेष क्षण है क्योंकि यह एक ऐसा आयोजन है जिसे पूरा करने में काफी समय लगा. इसने हालांकि पिछले दो वर्षों में टेस्ट क्रिकेट के महत्व को स्पष्ट रूप से प्रदर्शित किया है. मैं लगभग एक महीने में इंग्लैंड और भारत के बीच होने वाली श्रृंखला के साथ इसके दूसरे सत्र की प्रतीक्षा कर रहा हूं.’’