अंडर-19 विश्‍व कप 2020 के फाइनल मुकाबले में बांग्‍लादेश से हारकर भारतीय टीम पांचवीं बार खिताब पर कब्‍जा करने से महरूम रह गई. हालांकि इसके बावजूद सलामी बल्‍लेबाज यशस्‍वी जायसवाल का बल्‍ला पूरे टूर्नामेंट के दौरान खूब चला. जायसवाल को टूर्नामेंट नहीं जीत पाने का मलाल है. मुश्किल वक्‍त पर भी विरोधी टीम को प्रतिक्रिया नहीं देने का श्रेय जायसवाल ने राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर को दिया.

जायसवाल ने कहा, “अंडर-19 विश्‍व कप के दौरान मैं मुश्किल वक्‍त पर भी शांत रहा. राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर सर की सलाह इसमें मेरे लिए काफी काम आई. उन्‍होंने मुझे एक बात कही थी कि मुंह की जगह बल्‍ले से जवाब देना सीखो। यही वजह है कि मैं विश्‍व कप के दौरान शांत रहा है और विरोधी टीम की सलेजिंग का कोई जवाब नहीं दिया.”

अंडर-19 विश्‍व कप फाइनल में हार के बाद भारतीय खिलाड़ियों और बांग्‍लादेश के बल्‍लेबाजों के बीच मैदान पर हाथापाई तक की नौबात आ गई थी। इस मामले में आईसीसी ने पांच खिलाड़ियों पर अनुशासनात्‍मक कार्रवाई भी की है.

यशस्‍वी जायसवाल ने अंडर-19 विश्व कप में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 88, नाबाद 105, 62, नाबाद 57, नाबाद 29 और 59 रनों की पारियां खेलीं. जिसके चलते वो मैन ऑफ द सीरीज बनें.

पढ़ें:- टेस्‍ट सीरीज से पहले ट्रेंट बोल्‍ट ने भरी हूंकार, ‘विराट को आउट करने के लिए और इंतजार नहीं कर सकता’

जायसवाल ने अपने आधिकारिक इंस्टग्राम पेज पर लिखा, “अब मेरे पास समय है कि मैं अपने द्वारा की गई मेहनत, दृढ़ता और अनुशासन को देख सकूं, जिसके दम पर मैं आईसीसी विश्व कप के फाइनल में गया और मेरा देश का प्रतिनिधित्व करने का सपना पूरा हुआ.”

“हमें विश्व कप में वो परिणाम नहीं मिला जो मिलना चाहिए था, लेकिन फिर भी यह सफर शानदार रहा. प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का पुरस्कार पाने और फाइनल में अपना योगदान देने से खुश हूं.”

पढ़ें:- ICC T20I Ranking: विराट कोहली को हुआ नुकसान, केएल राहुल-रोहित शर्मा टॉप-15 में बरकरार

विश्‍व कप के बाद यशस्‍वी जायसवाल के सामने अगली चुनौती आईपीएल की है. आईपीएल 2020 में वो राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते हुए नजर आएंगे.