दक्षिण अफ्रीका में आयोजित अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में भले भारत को फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन इस टूर्नामेंट में सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल का बल्ला खूब बोला. जायसवाल ने 6 मैचों में सर्वाधिक 400 रन बनाए जिसमें 4 अर्धशतक और एक शतक शामिल था. 18 वर्षीय जायसवाल के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत उन्हें ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ चुना गया था. जायसवाल को जो ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ की ट्रॉफी दी गई वह दो हिस्सों में टूट गया. हैरानी की बात यह रही की यशस्वी को इसकी भनक तक नहीं लगी.

NZXIvsIND Tour Match, Day 1: पृथ्वी शॉ और शुबमन गिल खाता खोले बगैर लौटे पवेलियन, मयंक 1 रन बनाकर हुए आउट

हालांकि भारत के इस स्टार खिलाड़ी की अवॉर्ड ट्रॉफी के यात्रा के दौरान हुए नुकसान को अब दुरूस्त कर दिया गया है. जायसवाल ने  सेमीफाइनल में चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद शतकीय पारी खेली थी.

जायसवाल से जुड़े करीबी सूत्र ने गुरुवार रात को पीटीआई से कहा, ‘ट्रॉफी को यात्रा के दौरान कुछ नुकसान पहुंचा था लेकिन अब हमने इसे दुरूस्त कर दिया है. यात्रा के दौरान ऐसी चीजें होती हैं.’

VIDEO: टेस्ट सीरीज से पहले मस्ती के मूड में टीम इंडिया, खिलाड़ियों ने ‘ब्लू स्प्रिंग्स वाटरफ्रंट’ पर किया एंज्वॉय

खिताबी मुकाबले में 4 बार की चैंपियन भारत को बांग्लादेश ने डकवर्थ लुइस नियम के तहत 3 विकेट से हराकर पहली बार खिताब अपने नाम किया था. जायसवाल ने टूर्नामेंट में 88, 105*, 62, 57*, 29* और 59 रन की पारी खेेेेली थी.