कपिल देव की टीम का 1983 में लार्ड्स में सफेद जर्सी पहनकर विश्व कप जीतना महेंद्र सिंह धोनी के लिये प्रेरणा बना और फिर उनकी अगुवाई में भारत ने 2007 और 2011 में अलग-अलग तरह की नीले रंग की जर्सी में खिताब जीते तथा उन्हें भारतीय जर्सी की इस विरासत को भावी पीढ़ी को सौंपने पर गर्व है।

भारतीय टीम की विश्व कप 2019 की जर्सी शुक्रवार को लांच की गई और इस अवसर पर पूर्व कप्तान धोनी, वर्तमान कप्तान विराट कोहली, टेस्ट उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे और युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ भी मौजूद थे।

पढ़ें:- धोनी बने इंटरनेशनल क्रिकेट में 350 छक्के लगाने वाले पहले भारतीय

धोनी से पूछा गया कि भारतीय जर्सी उन्हें क्या याद दिलाती है, दो बार के विश्व चैंपियन ने कहा, ‘‘यह हमेशा मुझे उस विरासत की याद दिलाता है जो हमें मिली है। सिर्फ यही नहीं। प्रत्येक द्विपक्षीय सीरीज में खेलना, सभी फॉर्मेट में नंबर एक पर पहुंचना ये सभी प्रेरणादायी तत्व इससे जुड़े हैं।’’

धोनी ने पूरे सम्मान के साथ 1983 की कपिल की अगुवाई वाली टीम विश्व कप में जीत का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘‘पुरानी यादों को ताजा करना अच्छा लगता है। विश्व कप 1983 के दौरान हम काफी युवा थे। बाद में हमने वीडियो देखे कि किस तरह से हर कोई जश्न मना रहा था। हमने 2007 विश्व टी20 का खिताब जीता। यह अच्छा है कि हमने उस विरासत को आगे बढ़ाया और उसे भावी पीढ़ी को सौंपा। ’’

पढ़ें:- महेंद्र सिंह धोनी के इर्द-गिर्द घूमती है भारतीय टीम: कैफ

धोनी ने कहा, ‘‘उम्मीद है कि नई जर्सी कई विश्व कप का हिस्सा बनेगी लेकिन हमें अपनी निरंतरता पर गर्व है।’’

कोहली ने इस अवसर पर कहा, ‘‘इस जर्सी के साथ एक महत्व और सम्मान जुड़ा हुआ है। सभी को इसका अहसास होना चाहिए। आपके अंदर जीत का जज्बा होना चाहिए। तभी आप इस जर्सी को हासिल करते हैं।’’