you cannot go from being bhuvneshwar kumar to shoaib akhtar irfan pathan gave advised to swing bowlers
शोएब अख्तर और भुवनेश्वर कुमार @ICCTwitter

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान (Irfan Pathan) ने युवा तेज गेंदबाजों को सलाह दी है कि वह वह अपनी गति बढ़ाने के पीछे बहुत ज्यादा ध्यान न दें. अगर ऐसा करते हैं तो इससे नुकसान ही होगा. इरफान ने कहा कि जब तेज गेंदबाज अपनी पेस पर जोर लगाते हैं तो उन्हें अपनी स्विंग से समझौता करना पड़ता है. उन्हें यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि गेंदबाजी में अगर स्विंग खत्म तो फिर उनके लिए ज्यादा कुछ नहीं बचता. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर आप भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) हैं तो फिर आपके लिए शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) बनना नामुमकिन है.

पठान ने कहा कि युवा तेज गेंदबाजों को भुवनेश्वर कुमार के उदाहरण से सीखना चाहिए. उन्हें यह समझ आना चाहिए कि स्विंग गेंदबाज दुनिया में कहीं भी बेहतर कर सकता है और सिर्फ गति ही तेज गेंदबाजी का एकमात्र तत्व नहीं है.

36 वर्षीय पठान ने ‘प्लेफील्ड मैग्जीन’ के लिए एक लेख लिखा है. उन्होंने इस लेख में तेज गेंदबाजी पर विस्तार से चर्चा की है. उन्होंने कहा कि यह वैज्ञानिक तौर पर साबित है यदि आप 130-135 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार बिल्कुल सही है.

इसके अलावा पठान ने लिखा, ‘स्विंग बॉलर अपनी गेंदबाजी में कई तरह की विविधताएं भी ला सकते हैं. वह यॉर्कर पर काम कर सकते हैं. लेकिन सिर्फ तेज गेंदबाजों की कैटिगरी में आने की यह लालसा आपको कहीं का नहीं छोड़ेगी; आप भुवनेश्वर कुमार होते हुए शोएब अख्तर नहीं बन सकते, यह नामुमकिन है. आप आप स्विंग को भी खो देंगे और इसके बावजूद उतना तेज नहीं हो पाएंगे कि बल्लेबाजों को रफ्तार से चकमा दे पाएं.’

भारत के लिए 29 टेस्ट, 120 वनडे और 24 टी20 इंटरनेशनल खेलने वाले इस पूर्व गेंदबाज ने कहा, ‘तेज गेंदबाजों को मेरी यह सलाह है कि वे 4 से 5 किलोमीटर गति बढ़ाने की लालसा में अपनी स्विंग का त्याग न करें. यह लालसा आपको गड्ढे में धकेल देगी. स्विंग बॉलिंग के लिए एक खास गति होती है उसका सम्मान करें.’

इंटरनेशनल क्रिकेट में 301 विकेट चटकाने वाले इस पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘स्विंग बॉलर दुनिया में कहीं भी कामयाब हो सकते हैं. वह विविधताओं के लिए यॉर्कर, स्लोअर, कटर की विशेषताओं पर ध्यान दें वह अपने बॉलिंग एक्शन के अलाइनमेंट पर ध्यान जिससे, जब चाहें तब सटीक यॉर्कर फेंक सकें तो वे बेहतरीन गेंदबाजों में शुमार हो सकते हैं.’