राजस्थान रॉयल्स (RR) के मुख्य कोच कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara) ने आईपीएल (IPL) 2022 सीजन में टीम के प्रदर्शन का श्रेय खिलाड़ियों के प्रयासों को दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि फ्रेंचाइजी मैनेजमेंट ने मेगा निलामी के दौरान पर्स का 90-95 प्रतिशत खर्च किया है. हमारे पास ऐसे युवा खिलाड़ी है, जो अकेले दम पर मैच का रुख बदल सकते हैं.

श्रीलंकाई दिग्गज ने कहा कि आईपीएल के माहौल को देखते हुए पूरा ध्यान खिलाड़ियों के अनुभव पर था. संगकारा ने ये भी कहा कि ईडन गार्डन्स में पहले क्वालिफायर में गुजरात टाइटंस से मिली हार के बाद टीम के क्वालिफायर-2 में शानदार वापसी की, जिसका श्रेय सभी खिलाड़ियों को जाता है.

आरआर ने आरसीबी को 11 गेंदें शेष रहते हुए सात विकेट से हरा दिया क्योंकि संजू सैमसन की अगुवाई वाली टीम ने 18.1 ओवर में 157 रनों के मामूली लक्ष्य को हासिल कर लिया. इंग्लैंड के करिश्माई बल्लेबाज जॉस बटलर ने नाबाद 106 रनों की पारी खेली, शतकीय पारी की बदौलत टीम ने जीत हासिल की.

वहीं, गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा और ओबेद मैककॉय ने तीन-तीन विकेट लेकर रॉयल्स को टूर्नामेंट के इतिहास में दूसरी बार फाइनल में पहुंचाया. उन्होंने आगे कहा, “प्रसिद्ध कृष्णा ने शानदार गेंदबाजी की, वहीं मैककॉय ने भी टीम में अपना योगदान गेंदबाजी से दिया. हालांकि, चहल ने एक भी विकेट नहीं झटका, लेकिन उनकी उपस्थिति टीम में बल्लेबाजों पर दबाव डालने वाली रहती है. उन्होंने भी सीजन में अहम भूमिका निभाई, जिसमें उनकी एक हैट्रिक भी शामिल है.”

संगकारा ने यह भी खुलासा किया कि कैसे नीलामी से पहले उनकी टीम को खिलाड़ियों का चयन करने में मदद मिली. संगकारा ने अंत में कहा, “हमने अपनी पहली प्लेइंग इलेवन टीम को एक साथ रखने के लिए अपने पर्स का 90-95 प्रतिशत खर्च किया. हमने अपने खिलाड़ियों पर काम करने के लिए डेटा पर कड़ी मेहनत की.”

उन्होंने कहा, “हम इस समय अनुभव पर भी जोर दे रहे थे. हमारे पास ऐसे युवा खिलाड़ी है, जो अकेले दम पर मैच का रुख बदल सकते हैं. हमारी पहली एकादश में अनुभवी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का एक मजबूत हिस्सा है. इसका श्रेय हमारे विश्लेषक जाइल्स लिंडसे, जुबिन बरुचा और बाकी कर्मचारियों को जाता है.”