यूनिस खान © Getty Images
यूनिस खान © Getty Images

कराची। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड(एसीबी) के चेयरमैन ने कहा कि पाकिस्तान के पूर्व कप्तान यूनिस खान वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट के समाप्त होने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अलविदा कहने के बाद अफगानिस्तान की राष्ट्रीय टीम से बतौर कोच जुड़ जाएंगे। एसीबी प्रमुख आतिफ मार्शल ने शुक्रवार को यहां एक न्यूज चैनल से कहा कि 39 वर्षीय यूनिस ने अफगानिस्तान को कोचिंग देने पर सहमति दे दी है। मार्शल ने कहा, ‘‘इस समय हम उनके अनुबंध को अंतिम रूप दे रहे हैं। ’’ बीते समय में भी पाकिस्तान के कई पूर्व कप्तानों और खिलाड़ियों ने अफगानिस्तानी टीम को कोचिंग दी है जिसमें मौजूदा मुख्य चयनकर्ता इंजमाम उल हक, पूर्व कप्तान राशिद लतीफ और तेज गेंदबाज कबीर खान शामिल हैं।

हाल ही में यूनिस खान टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान की ओर से दस हजार रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने थे। यूनिस ने साल 2000 मे पाकिस्तान की ओर से टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। इन सालों में उन्होंने 117 टेस्ट मैचों में 52.32 के बेहतरीन औसत से 10,046 रन बनाए। जिसमें 34 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं।

इसके वह साल 2000 से 2015 तक वनडे क्रिकेट भी खेले। इस दौरान उन्होंने 265 मैचों में 31.24 की औसत से 7,249 रन बनाए। जिसमें सात शतक और 48 अर्धशतक शामिल हैं। मौजूदा समय में अफगानिस्तान टीम वनडे रैंकिंग में 52 रेटिंग अंक के साथ 11वें नंबर पर है। वहीं, टी20 क्रिकेट में 90 रेटिंग अंकों के साथ नौंवे स्थान पर है। इस मामले में वह बांग्लादेश 78 रेटिंग अंकों से आगे है। हाल ही में अफगानिस्तान ने आयरलैंड को वनडे और टी20 सीरीज में हराया था। मोहम्मद राशिद, और नबी जैसे चेहरों के टीम में होते हुए अफगानिस्तान टीम में खासी संभावनाएं नजर आती हैं। अगर उन्होंने ऐसा ही प्रदर्शन जारी रखा तो अगले सालों में उन्हें टेस्ट दर्जा मिलना तय है। जाहिर है कि टीम के कोच रहते हुए यूनिस खान इस टीम को निखारना चाहेंगे।