युवराज सिंह ने पास किया यो-यो टेस्ट © Getty Images
युवराज सिंह ने पास किया यो-यो टेस्ट © Getty Images

टीम इंडिया को 2011 में वर्ल्ड कप जिताने में अहम भूमिका निभाने वाले ऑलराउंडर युवराज सिंह ने यो-यो टेस्ट पास कर लिया है। रिपोर्ट की मानें तो बैंगलोर की नेशनल क्रिकेट स्टेडियम में हुए यो यो टेस्ट में युवराज सिंह का स्कोर 16.3 रहा। यो यो टेस्ट पास करने का कट ऑफ स्कोर 16.1 है। मतलब युवराज सिंह ने .2 अंक से इस टेस्ट को पास कर लिया। युवराज सिंह के यो यो टेस्ट पास करते ही वो अब टीम इंडिया में वापसी के दावेदार बन गए हैं। टीम इंडिया में वापसी के लिए यो यो टेस्ट पास करना जरूरी है, जिसमें युवराज सिंह लगातार 3 बार फेल हो गए थे लेकिन अब उन्होंने इस टेस्ट को पास कर लिया है।

युवराज सिंह के यो यो टेस्ट पास करने के बाद अब सवाल उठ रहा है कि क्या सेलेक्टर्स उन्हें टीम इंडिया में जगह देंगे। श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज या द.अफ्रीका दौरे पर होने वाले 6 वनडे और 3 टी20 मैचों के लिए टीम में उनका चयन होगा? वैसे युवराज सिंह ने अपने यो यो टेस्ट पास करने के बाद बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि वो 2019 तक क्रिकेट खेलते रहेंगे। युवराज ने कहा, ‘मैं आपको बताना चाहूंगा कि हां मैं फेल हुआ। मैं फिटनेस टेस्ट 3 बार पास नहीं कर सका, लेकिन अब मैंने टेस्ट पास कर लिया है। 17 साल के करियर में मैं अब भी फेल हो रहा हूं और मैं फेल होने से नहीं घबराता। मुझे नहीं पता कि कितने लोग मुझ पर विश्वास करते हैं लेकिन मैं ये कहना चाहूंगा मैं खुद पर विश्वास करता हूं।’

ब्रिस्टल विवाद में एलेक्स हेल्स को क्लीन चिट, इंग्लैंड की वनडे टीम में होगी वापसी
ब्रिस्टल विवाद में एलेक्स हेल्स को क्लीन चिट, इंग्लैंड की वनडे टीम में होगी वापसी

युवराज सिंह ने आगे कहा, ‘मैं अब भी क्रिकेट खेल रहा हूं, मैं नहीं जानता कि मैं कौन सा फॉर्मेट खेलूंगा। लेकिन मैं हर दिन पहले से ज्यादा कड़ी मेहनत कर रहा हूं क्योंकि मेरी उम्र बढ़ रही है। मैं 2019 तक क्रिकेट खेल सकता हूं। इसके बाद ही अपने भविष्य पर फैसला लूंगा।’ युवराज सिंह का ये बयान साफ तौर पर इशारा करता है कि साल 2019 में इंग्लैंड में होने वाला वर्ल्ड कप उनके रडार पर है और वो हर हाल में टीम इंडिया में वापसी करना चाहते हैं।