भारतीय टीम (Team India) के पूर्व विस्‍फोटक बल्‍लेबाज युवराज सिंह (Yuvraj Singh) का कहना है कि पंजाब टीम को कोचिंग देने के दौरान वो उनकी अंग्रेजी पर विशेष ध्‍यान दे रहे हैं. पंजाब की टीम के लिए वो हर रविवार को विशेष अंग्रेजी भाषा का सेशन भी चला रहे है.

गौरव कपूर के शो में युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि लंबे समय तक मैं कोचिंग दे पाऊंगा क्‍योंकि मुझे बाकी जगह बहुत कुछ करना है. शायद मैं उन लड़कों के साथ आगे काम करूंगा जो मुझे पसंद हैं. जब मैं ऐसा करूंगा तो उनके साथ महीने व दो महीने बिताऊंगा. उनसे रोज बात करूंगा. उनके खेल और उनकी वुकैबलरी (शब्‍दावली) पर ध्‍यान दूंगा.”

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कहा, “अगर उन्‍हें मैन ऑफ द मैच मिलेगा तो वो किस प्रकार से बात कर पाते हैं. मैं उन्‍हें इंग्लिश पढ़ने लायक बनाऊंगा. हमारी पंजाब की टीम के क्रिकेटर्स में काफी ज्ञान है.”

युवी ने कहा, “कुछ लड़के इतनी अच्‍छी अंग्रेजी बोल पाते हैं कि जो इस भाषा को जानता है वो भी भूल जाए. हरभजन सिंह, हमारे कप्‍तान ने ये नियम बनाया है कि रविवार को पंजाब की टीम में इंग्लिश डे होगा. जो भी इस नियम को तोड़ेगा और पंजाबी में बोलने की गलती करेगा उसे एक हजार रुपये का जुर्माना देना होगा.”

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कहा कि मैंने अपने क्रिकेटर्स से पूछा, “अगर आपको मैन ऑफ द मैच मिलेगा तो आप क्‍या बोलेंगे ? उन्‍होंने मुझे कहा कि हम पंजाबी में ही बोलेंगे. फिर मैंने उन्‍हें बताया कि प्रेजेंटर को शायद पंजाबी नहीं आती होगी. मैंने उन्‍हें अंगेजी में बोलने के लिए प्रोत्‍साहित किया. वो बेहद हास्‍यास्‍पद अंग्रेजी बोल रहे हैं.”