युवराज सिंह © IANS
युवराज सिंह © IANS

पाकिस्तान के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में उतरते ही युवराज सिंह ने इतिहास रच दिया। युवराज सिंह आईसीसी टूर्नामेंट के सबसे ज्यादा फाइनल खेलने वाले खिलाड़ी बन गए। युवराज सिंह ने ओवल के मैदान पर उतरते ही आईसीस के सबसे ज्यादा 7 फाइनल मैच खेलने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। अपने डेब्यू टूर्नामेंट में ही फाइनल खेलने वाले युवराज 2000 से 2017 तक कुल 7 बार आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे हैं. इन सात फाइनल में युवराज 3 बार ‘विजेता’ बन कर सामने आए तो 4 दफा उन्हें हार का सामना करना पड़ा। एक नजर युवराज के अब तक खेले 6 आईसीसी फाइनल पर।

1. आईसीसी नॉक आउट 2000- युवराज सिंह को अपने डेब्यू मैच में खेलने का मौका नहीं मिला लेकिन दूसरे मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 84 रन की धमाकेदार पारी के साथ उन्होंने सभी को अपना मुरीद बना लिया। भारत फाइनल तक पहुंचा लेकिन उसे न्यूजीलैंड से हार का सामना करना पड़ा।

2. आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2002 – 2 साल बाद युवराज सिंह को एक बार फिर आईसीसी के टूर्नामेंट में फाइनल खेलने का मौका मिला। हालांकि भारतीय टीम यहां भी पूरी तरह से विजेता नहीं बन पाई दो दिन हुई बारिश के कारण भारत को श्रीलंका के साथ खिताब बांटना पड़ा था। युवराज को इस टूर्नामेंट में 2 ही मुकाबलों में बल्लेबाजी का मौका मिला और उन्होंने 65 रन बनाए जिसमें 62 रन सेमीफाइनल में साउथ अफ्रीका के खिलाफ ही आए थे।

3. आईसीसी वर्ल्ड कप 2003 – एक साल बाद युवराज एक बार फिर आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे। हालांकि सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ करारी हार मिली। युवराज ने पाकिस्तान और कीनिया के खिलाफ अर्द्धशतक लगाया था तो नामीबिया के खिलाफ 6 रन देकर 4 विकेट भी झटके थे।

4. टी20 वर्ल्ड कप 2007- इस वर्ल्ड कप में युवराज सिंह ने एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया जो आज तक कोई नहीं कर सका। इसी वर्ल्ड कप में युवराज ने 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाने का कारनामा किया था। पाकिस्तान के खिलाफ पहला मुकाबला जीतने के बाद भारत फाइनल में एक बार फिर पाकिस्तान से भिड़ने उतरा और अपनी पहली कप्तानी में ही धोनी ने भारत को विश्व कप दिला दिया।

5. वर्ल्ड कप 2011- आईसीसी टूर्नामेंट में युवराज को 5वां फाइनल खेलने का मौका वर्ल्ड कप 2011 में मिला। इस टूर्नामेंट में युवराज ने कैंसर से लड़ते हुए भारत को 28 साल बाद विश्व कप दिलाया। बल्ले और गेंद दोनों से युवराज ने शानदार प्रदर्शन किया था और मैन ऑफ द टूर्नामेंट भी बने थे।

6. टी 20 विश्व 2014 – आईसीसी इवेंट्स में युवराज सिंह का छठा फाइनल वर्ल्ड टी 20 2014 था। ये युवराज के क्रिकेट करियर का सबसे खराब फाइनल था। फाइनल जैसे मुकाबले में युवराज ने 21 गेंद पर 11 रन ही बना थे जिसकी वजह से भारत श्रीलंका को बड़ा लक्ष्य नहीं दे सका और उसे हार झेलनी पड़ी।