Yuzvendra Chahal: Change in pace is key to tackle opposition in this kind of wicket
Yuzvendra Chahal (File Photo) © Getty Image

गुवाहाटी वनडे में भारतीय टीम ने आठ विकेट से जीत दर्ज कर पांच मैचों की सीरीज में जीत के साथ शुरुआत की। वेस्‍टइंडीज ने भारत के समक्ष 323 रनों का विशाल लक्ष्‍य रखा, जिसे भारत ने 43वें ओवर में ही बना लिया।

भारतीय टीम की तरफ से गेंदबाजी के दौरान युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट निकाले। जहां एक ओर बाकी सभी गेंदबाजों की खूब पिटाई हुई, लेकिन चहल इसके बावजूद भी सबसे किफायती रहे। उन्‍होंने अपने 10 ओवरों में 4.10 की इकनॉमी से 42 रन दिए। मैच के बाद चहल ने कहा, “गुवाहाटी की पिच पर कामयाबी हासिल करने के लिए गति में परिवर्तन बेहद जरूरी था। आपको इस बात का अनुमान लगाना था कि बल्‍लेबाज क्‍या सोच रहा है। उसी के मुताबिक गेंदबाजी करने की जरूरत थी।”

युजवेंद्र चहल ने कहा, “वेस्‍टइंडीज के बल्‍लेबाज मैच में छक्‍कों की तलाश कर रहे थे। ऐसे में मैंने उन्‍हें फुल लेंथ पर गेंदबाजी नहीं दी। मुझे पता है कि वेस्‍टइंडीज के बल्‍लेबाज काफी मजबूत हैं। जिसे देखते हुए मैंने धीमी गेंदबाजी की। जब विराट और रोहित बल्‍लेबाजी कर रहे थे तो उन्‍हें देखने में काफी मजा आ रहा था। दोनों महान खिलाड़ी हैं।”

बता दें कि विराट कोहली और रोहित शर्मा ने दूसरे विकेट के लिए 246 रनों की साझेदारी बनाई। ये रन चेज के दौरान भारत की तरफ से सबसे बड़ी साझेदारी है। विराट ने 140 तो रोहित ने नाबाद 152 रन बनाए। रोहित ने इस मैच में सचिन तेंदुलकर के सबसे ज्‍यादा बार 150 या इससे अधिक रन के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया। सचिन ने ये कारनाम पांच बार किया था। रोहित ने गुवाहाटी वनडे में इसे छठी बार किया।