जफर अंसारी ने पहले टेस्ट में तीन विकेट लिए थे © Getty Images
जफर अंसारी ने पहले टेस्ट में तीन विकेट लिए थे © Getty Images

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की सीरीज का दूसरा मैच गुरुवार से खेला जाएगा। दोनों देशों के बीच खेला गया पहला मुकाबला बराबरी पर समाप्त हुआ था। पहले मैच में इंग्लैंड के बायें हाथ के स्पिन गेंदबाज जफर अंसारी ने अच्छी गेंदबाजी की थी। लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि जफर अंसारी ने गेंदबाजी आर अश्विन, या किसी बड़े स्पिनर से गेंदबाजी के गुर नहीं सीखे हैं बल्कि उन्होंने कहा कि उन्होंने भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा के ऐक्शन को अच्छी तरह फॉलो किया और जब मुरली कार्तिक काउंटी क्रिकेट में सर्रे की तरफ से खेलते थे उनसे सीखने की कोशिश की।

चौबीस वर्षीय अंसारी ने राजकोट में भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में तीन विकेट लिए थे जिनमें अंजिक्य रहाणे का विकेट भी शामिल है। अंसारी ने यहां होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले कहा, ‘प्रज्ञान ओझा को मैंने 2011 में पहले चार मैचों में उन्हें करीब से गेंदबाजी करते देखा। वह किस तरह से गेंदबाजी करते हैं, उनका ऐक्शन मैंने कुछ समय तक उसका अनुसरण किया। मुरली कार्तिक भी इसी तरह के गेंदबाज हैं। उनका रवैया, क्रीज पर उनके द्वारा बिताया गया समय, मैंने उस पर गौर किया और उनसे सीखने की कोशिश की।’ ये भी पढ़ें: ट्रक ड्राइवर के बेटे ने रणजी में किया कमाल, क्या मिलेगी टीम इंडिया में जगह?

वह इंग्लैंड की टीम में उन चार मुस्लिम खिलाड़ियों में शामिल हैं जो अभी भारतीय दौरे पर आए हैं। अंसारी ने कहा, ‘चार ब्रिटिश मुस्लिमों का समूह के तौर पर इसमें कुछ खास है। यह वास्तव में रोमांचक है और जिस पर हमें गर्व है। लेकिन मैं खुद को रोल मॉडल नहीं मानता। मैं नियमों को चुनौतियां नहीं दे रहा हूं। इसलिए मैं खुद को नए मानदंड स्थापित करने वाला नहीं मानता। मोईन अली, आदिल राशिद और हसीब हमीद भी अपने समुदाय का प्रतिनिधित्व करके शानदार भूमिका निभा रहे हैं। यह भूमिका निभानी आसान नहीं है लेकिन वे वास्तव में अच्छा कर रहे हैं।’

अंसारी ने कहा कि पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर और अब इंग्लैंड टीम के स्पिन सलाहकार सकलेन मुश्ताक केवल बेसिक्स पर काम करते हैं। उन्होंने कहा, ‘वह कुछ नया नहीं करते। वह एक्शन बदलने के बारे में बात नहीं करते। वह बेसिक्स पर बात करते हैं।’ पहले टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत के ऊपर मजबूत पकड़ बना ली थी और मैच पर हावी दिख रहा था लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली के दम पर भारत ने हारे हुए मैच को ड्रॉ पर खत्म कर दिया था।