ज्लाटन इब्राहिमोविक ने अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल को कहा अलविदा
फोटो साभार www.straitstimes.com

विश्व के बेहतरीन स्ट्राइकरों में शुमार स्वीडन के ज्लाटन इब्राहिमोविक ने यूरो कप में बेल्जियम से मिली हार के बाद अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल को अलविदा कह दिया। इब्राहिमोविक अपने देश के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी भी हैं। बेल्जियम ने स्वीडन को ग्रुप-ई के मुकाबले में 1-0 से मात दी थी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, यूरो कप के बाद संन्यास की घोषणा के कारण बुधवार को हुए मैच में इब्राहिमोविक आकर्षण का केन्द्र थे। अगर स्वीडन बेल्जियम को हरा देता तो इब्राहिमोविक नॉकआउट दौर में टीम के लिए खेलते रहते।

इब्राहिमोविक ने मैच के बाद कहा, “मैं माल्मो के छोटे से हिस्से से आया हुआ लड़का हूं। मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्तव करने का मौका मिला।” [ये भी पढ़ें]

उन्होंने कहा, “मैंने जो कुछ भी हासिल किया उस पर मुझे गर्व है। स्वीडन के साथ करियर की यादें हमेशा मेरे साथ रहेंगी।” इब्राहिमोविक ने स्वीडन के लिए खेलते हुए 116 मैचों में 62 गोल किए हैं। इससे पहले हुए तीन यूरो कप में उन्होंने हर कप में दो गोल किए थे।

टीम के कोच इरिक हामरेन ने इब्राहिमोविक के संन्यास पर कहा, “मैं काफी निराश हूं। हम मैच के पहले स्वीडन का प्रतिनिधित्तव करने के सम्मान पर बात कर रहे थे। मैं अपने खिलाड़ियों से इससे बेहतर प्रदर्शन के बारे में नहीं कह सकता, हालांकि हम हार गए, लेकिन हमने अच्छा प्रदर्शन किया।”

उन्होंने कहा, “मुझे उम्मीद थी कि इब्राहिमोविक के करियर का अंत अच्छा होगा। यही बात इसकासन और कालस्ट्रोम पर भी लागू होती है, जिन्होंने लंबे समय से टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है और स्वीडन के साथ अपने करियर का अंत कर रहे हैं।”

इब्राहिमोविक को विशेष बताते हुए कोच ने कहा कि उन जैसा दूसरा खिलाड़ी देश में नहीं मिल सकता। उन्होंने कहा, “नया इब्राहिमोविक? नहीं, वह विशेष है, वह अद्वितीय है। मुझे नहीं लगता कि स्वीडन जैसे छोटे देश में आपको इब्राहिमोविक जैसा दूसरा खिलाड़ी मिलेगा।”

अपने अंतिम मैच में बेल्जियम के खिलाफ उन्होंने गोल करने की काफी कोशिश की, लेकिन उनकी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया। 2013 दिसंबर में इब्राहिमोविक को इंग्लैंड के अखबार द गर्जियन ने लियोनेल मेसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बाद तीसरा सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बताया था। 2014 दिसंबर में स्वीडन के अखबार डागेंस नेहेटेर ने उन्हें टेनिस खिलाड़ी जोर्न बोर्ग के बाद देश का दूसरा महान खिलाड़ी बताया था।

इब्राहिमोविक ने अपने करयिर की शुरुआत स्वीडन के क्लब माल्मो से 1990 में की थी। इसके बाद वह अजाक्स एमसटरडैम के लिए खेले, जहां वह एक परिपक्व खिलाड़ी के तौर पर उभर कर सामने आए और अपना नाम बनाया। वह जुवेंतस, इंटर मिलान, बार्सिलोना, एसी मिलान और पेरिस सेंट जर्मेन के लिए भी खेल चुके हैं।