Ashes 2019: Sachin Tendulkar’s analysis of Steve Smith’s batting
Steven Smith, Sachin Tendulkar @ AFP

महान भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने स्टीव स्मिथ की बेहतरीन बल्लेबाजी की प्रशंसा करते हुए कहा कि पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान की ‘व्यवस्थित सोच’ और ‘जटिल तकनीक’ उन्हें अपने समकालीनों से अलग करती है।

हाल में समाप्त हुई एशेज सीरीज से टेस्ट क्रिकेट में शानदार वापसी के लिये तेंदुलकर ने स्मिथ की प्रशंसा की। तेंदुलकर ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘‘पेचीदा तकनीक लेकिन सुव्यवस्थित सोच ही उसे सबसे अलग करती है। इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया एशेज सीरीज में शानदार वापसी।’’

पढ़ें:- आतंकी अलर्ट के बाद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने पाक दौरे को लेकर लिया अंतिम फैसला

दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ के कारण एक साल के प्रतिबंध के बाद वापसी करते हुए स्मिथ ने एशेज सीरीज में सात पारियों में 110.57 के औसत से 774 रन जुटाये।

स्मिथ की बल्लेबाजी शैली बिलकुल अलग है जो अपरंपरागत के साथ विशिष्ट है और तेंदुलकर ने सोशल मीडिया पोस्ट पर इस ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज के खेल को समझाने की कोशिश भी की।

दूसरे एशेज टेस्ट में लार्ड्स में जोफ्रा आर्चर का बाउंसर स्मिथ के सिर में लगी थी जिसके कारण वह दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिये नहीं उतरे और हेडिंग्ले में अगले टेस्ट में खेल भी नहीं पाये।

तेंदुलकर ने कहा, ‘‘किसी भी बल्लेबाज के लिये सबसे अहम चीज सिर को ऊपर रखना है और आगे झुकने के लिये थोड़ा इंतजार करना है। स्मिथ गलत पोजीशन में आ गए और शायद इसलिए उसे गेंद लगी।’’

पढ़ें:- RCB का हिस्‍सा बने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ट्रेनर शंकर बासु

तेंदुलकर ने कहा, ‘‘अंतिम दो टेस्ट में वह गेंद को छोड़ रहा था और बेहतर पोजीशन में दिख रहा था। उसने चतुराई से अपनी तकनीक पर काम किया। इसिलए मैं कहता हूं, ‘जटिल तकनीक लेकिन बहुत ही व्यवस्थति सोच’। ’’