भले ही प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए जरूरी 16 अंक के कट ऑफ तक पहुंच गई हो बावजूद इसके वह शुक्रवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ होने वाले आईपीएल के 44वें मैच में जीत के जरिए शीर्ष पर अपना स्थान मजबूत करना चाहेगी।

पढ़ें: हैदराबाद के खिलाफ जीत चाहेगी राजस्थान, खलेगी विदेशी खिलाड़ियों की कमी

महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली टीम ने दो हार के बाद फिर से वापसी की है। उसने शेन वॉटसन की आक्रामक पारी की बदौलत मंगलवार को सनराइजर्स हैदराबाद पर 6 विकेट से जीत हासिल की। अब मेजबान टीम शुक्रवार को भी इसी लय को जारी रखना चाहेगी। दोनों टीमें लीग स्‍तर पर एक बार भिड़ चुकी हैं जिसमें बाजी मुंबई के हाथ लगी थी।

पढ़ें: नो बॉल विवाद में फंसे अंपायर को विश्व कप पैनल में मिली जगह

रैना, रायडू और जाधव का फॉर्म में लौटना जरूरी

चेन्नई ने शेन वॉटसन की फॉर्म में वापसी का स्वागत किया लेकिन टीम उम्मीद कर रही होगी कि सुरेश रैना, अंबाती रायडू और केदार जाधव नॉकआउट चरण से पहले फॉर्म में आ जाएं।

चेन्‍नई की सफलता में गेंदबाजों की भूमिका अहम

गेंदबाजों ने अभी तक चेन्नई सुपरकिंग्स की सफलता में बड़ी भूमिका अदा की है, विशेषकर घरेलू मैदान पर जहां की पिच काफी धीमी है।

वहीं काफी सुधार करने वाले दीपक चाहर आने वाले मैचों में शुरूआत और अंतिम ओवरों में अपनी चतुर गेंदबाजी से काफी अहम होंगे। 16 विकेट चटकाकर टूर्नामेंट में दूसरे स्थान पर चल रहे गेंदबाज इमरान ताहिर हैदराबाद के खिलाफ मैच में विकेट नहीं चटका सके लेकिन इस दक्षिण अफ्रीकी अनुभवी क्रिकेटर से साथी स्पिनरों रविंद्र जडेजा और हरभजन सिंह के साथ मिलकर मुंबई के ताकतवर बल्लेबाजी लाइन अप को तोड़ने की उम्मीद की जाएगी।

उतार-चढ़ाव भरा रहा है मुंबई इंडियंस का सफर

मुंबई के लिए सफर अब तक उतार चढ़ाव-भरा रहा है। शुरूआती चरण के अंत में उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की जरूरत होगी।

रोहित शर्मा के रूप में टीम के पास चतुर कप्तान है जो आगे बढ़कर टीम की अगुवाई करता है और साथ ही उनके पास मजबूत बल्लेबाजी इकाई है जिसमें क्विंटन डि कॉक, कीरोन पोलार्ड और पांड्या बंधु-हार्दिक और क्रुणाल शामिल हैं।