भारत बनाम न्यूजीलैंड © AFP
भारत बनाम न्यूजीलैंड © AFP

विशाखापत्तनम। भारत और न्यूजीलैंड के बीच वनडे सीरीज का पांचवा वनडे मैच विशाखापत्तनम में 29 अक्टूबर को खेला जाना है, लेकिन अब इस वेन्यू को शिफ्ट किया जा सकता है। विशाखापत्तनम स्टेडियम की पिच क्वालिटी को लेकर सवाल तल्ख हो चले हैं। पिच का मुआयना 19 अक्टूबर को होगा जिसके आधार पर वेन्यू को अंतिम रूप दिया जाएगा। अगर पिच को अयोग्य समझा जाता है तो पांचवें वनडे के लिए पिच में बदलाव किया जा सकता है। पिच को लेकर चिंताएं उस वक्त जाहिर हुई थीं जब रणजी ट्रॉफी के दौरान पिच अजीबोगरीब तरीके से व्यवहार कर रही थी। इस पिच पर राजस्थान और असम के बीच मैच खेला गया था जो 3 दिन के भीतर ही खत्म हो गया। असम के कोच सुनिल दोषि ने पिच पर डाले गए ट्रैक को लेकर अपनी चिंताएं व्यक्त की थीं। मैच के दौरान अक्सर गेंद कम उछल रही थी और कई बार तो ये देखा गया कि गेंद तो घुटनों से नीचे रह गई। जैसे ही मैच आगे बढ़ा तो पिच की हालत और खराब हो गई। असम इस विकेट पर दूसरी पारी में 69 रनों पर ही ऑलआउट हो गई। मैच के तीसरे दिन में कुल 17 विकेट गिर गए और ये बात मैच के व्यवस्थापकों को भी सही नहीं लगी। आंध्र क्रिकेट एसोसिएशन के चीफ जीगंगाराजू ने इस बात पर अपनी सहमति दी कि सतह कोई बहुत अच्छी नहीं थी।

उन्होंने पिच के इस व्यवहार का कारण इस सीजन हुई कम वर्षा को बताया। गंगाराजू ने बाद में बताया कि पिच को एक बार फिर से नए सिरे से बनाया गया था। उन्होंने कहा, “पिच को चार महीने पहले ही फिर से बनाया गया था लेकिन बारिश के कारण वह इसे अच्छी तरह से बना नहीं पाए। बीसीसीआई बुधवार को क्यूरेटर भेजेगा जो इस बात की जांच करेगा कि पिच अंतरराष्ट्रीय मैच लायक है कि नहीं।”

पिच के खराब व्यवहार और परिणाम से असम के कोच सुनिल दोषी खासे दुखी नजर आए। वनडे की तैयारियों के कारण उनके रणजी कैंपेन को गहरा धक्का लगा है। दोषी ने कहा, “जाहिर तौर पर वह इस महीने के अंत में वनडे मैच के लिए पिच को तैयार कर रहे थे लेकिन इसके कारण हमारे मैच को नुकसान झेलना पड़ा। पिच पर ज्यादा पानी पड़ने से पहले दो दिन तो पिच ठीक रही लेकिन तीसरे दिन उसने जवाब दे दिया।” टीम इंडिया पहले से ही सीरीज में 1-0 से आगे है।