IPL 2019, Mumbai vs Bangalore: Hardik Pandya’s knock, Lasith Malinga’s 4-wicket haul and other notable performances from MI-RCB clash

पंजाब के खिलाफ मैच में मिली टूर्नामेंट की पहली जीत के बाद आत्मविश्वास के साथ मुंबई के खिलाफ मैच में उतरी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को अपनी सातवीं हार का सामना करना पड़ा। मुंबई इंडियंस ने एक बार फिर साबित किया कि किस वजह से वानखेडे़ का मैदान उनका अभेद किला है। मुंबई के लिए हार्दिक पांड्या, क्विंटन डी कॉक और लसिथ मलिंगा ने शानदार प्रदर्शन किया। वहीं बैंगलुरू टीम की ओर से एबी डीविलियर्स और मोइन अली ने अर्धशतक जड़े। मैच के कुछ बेहतरीन प्रदर्शनों पर नजर डालते हैं।

एबी डिविलियर्स का अर्धशतक-अक्षदीप नाथ की गलती:

इस दिग्गज खिलाड़ी के बारे में जितना कहा जाय कम है। डिविलियर्स पहले मैच से ही बैंगलुरू के लिए रन बना रहे हैं। मुंबई के खिलाफ मैच में उन्होंने 51 गेंदो पर छह चौकों और चार छक्कों की मदद से 75 रन बनाए। इस पारी के साथ डिविलियर्स ने 12वें सीजन में 300 का आंकड़ा पार किया और ऑरेंज कैप सूची में पांचवें नंबर पर पहुंच गए। डिविलियर्स अगर आखिरी गेंद पर क्रीज पर रहते तो बैंगलुरू का स्कोरकार्ड थोड़ा अलग नजर आता लेकिन ऐसा नहीं हो पाया और इसकी वजह रही- कीरोन पोलार्ड की शानदार फील्डिंग और उनके साथी बल्लेबाज अक्षदीप नाथ की गलती।

बैंगलुरू की पारी के दौरान आखिरी ओवर की दूसरी गेंद पर डिविलियर्स ने मलिंगा के खिलाफ लॉन्ग ऑन की तरफ शॉट खेलकर रन लेना चाहा। पहला रन आसानी से पूरा हुआ और वो दूसरे रन के लिए भागे लेकिन अक्षदीप ने दूसरा रन लेने से इंकार कर दिया। डिविलियर्स ने वापस नॉन स्ट्राइकर एंड पर पहुंचने की कोशिश की लेकिन पोलार्ड का थ्रो उनके लिए बहुत तेज था। अक्षदीप नाथ को सेट बल्लेबाज को स्ट्राइक देनी चाहिए थी। चूंकि वो केवल 2 रन बनाकर खेल रहे थे, ऐसे में वो अपना विकेट देकर डिविलियर्स को बचाने की कोशिश कर सकते थे लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया।

ये भी पढ़ें: बैंगलुरू को हराकर तीसरे नंबर पर पहुंची मुंबई, रबाडा-वार्नर शीर्ष पर बरकरार

मैन ऑफ द मैच लसिथ मलिंगा:

मुंबई के इस सीनियर क्रिकेटर ने बैंगलुरू के खिलाफ शानदार चार विकेट हॉल लिया। चोटिल अल्जारी जोसफ की जगह प्लेइंग इलेवन में लौटे मलिंगा ने वापसी के बाद पहले ही मैच में अपनी मौजूदगी जताई। उन्होंने चार ओवर में 31 रन देकर चार विकेट झटके, जिसमें अर्धशतक बनाने वाले मोइन अली का विकेट भी शामिल है। मलिंगा श्रीलंका के प्रांतीय वनडे टूर्नामेंट में खेलने के लिए आईपीएल बीच में छोड़कर गए थे, जहां उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था। भारत वापस आने के बाद भी मलिंगा उसी अंदाज में गेंदबाजी कर रहे हैं।

क्विंटन डी कॉक-रोहित शर्मा:

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की इस सलामी जोड़ी ने टीम को वैसे ही शुरुआत दिलाई, जिसकी जरूरत थी। डी कॉक और रोहित ने पहले विकेट के लिए 70 रन जोड़े। बैंगलुरू टीम एक बार फिर पावरप्ले में विकेट लेने में नाम रही, हालांकि मुंबई के खिलाफ मैच में विराट कोहली अपने सबसे सफल गेंदबाज युजवेंद्र चहल को पांचवें ओवर में ही अटैक लाए लेकिन नतीजा वही रहा। रोहित ने 19 गेंदो पर 28 रन बनाए और डी कॉक ने 26 गेंदो पर 40 रनों की पारी खेली।

पांड्या की विस्फोटक बल्लेबाजी-कोहली का गलत गेंदबाजी अटैक:

भारतीय ऑलराउंडर ने अपनी शानदार फॉर्म जारी रखते हुए बैंगलुरू के खिलाफ मैच में एक और विस्फोटक पारी खेली। हार्दिक जब क्रीज पर आए तो 129 के स्कोर पर मुंबई के चार विकेट गिर चुके थे। पांड्या के स्ट्राइक पर आते ही कोहली ने ओवर नवदीप सैनी और फिर मोहम्मद सिराज को थमाया, जो कि कप्तान का गलत फैसला साबित हुआ।

ये भी पढ़ें:हार्दिक-क्विंटन डी कॉक की आतिशी पारी से मुंबई को मिली जीत

पांड्या ने दोनों गेंदबाजी के खिलाफ बाउंड्री लगाई और फिर पवन नेगी का ओवर आने तक पांड्या पूरी तरह सेट हो चुके थे। और डेथ ओवर में पांड्या के खिलाफ स्पिन गेंदबाज बेहद खराब फैसला है, ये बात कोई पाकिस्तानी गेंदबाज इमाद वसीम से पूछे। 19वें ओवर में नेगी के खिलाफ दो छक्कों और दो चौके जड़कर हार्दिक ने मैच एक ओवर पहले ही खत्म किया। 16 गेंदो पर 37 रनों की पांड्या की धमाकेदार पारी के दम पर मुंबई ने 5 विकेट से मैच जीता।