IPL 2019, RCB vs RR: Shreyas Gopal takes hatrick, RCB knocked out of the tournament

राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग के 49वें मैच के रद्द होने के साथ ही 12वें सीजन में विराट कोहली की टीम का सफर हो गया है। एम चिन्नास्वामी में आयोजित हुए इस मुकाबले को बारिश की वजह से 20-20 से घटाकर 5-5 ओवर का कर दिया गया था लेकिन तेज बारिश के चलते पूरे 10 ओर भी नहीं खेले जा रहे। हालांकि मैच पूरा नहीं हो सका लेकिन इसके बावजूद कुछ शानदार प्रदर्शन देखने को मिले।

श्रेयस गोपाल की हैट्रिक:

राजस्थान का ये गेंदबाज आईपीएल में बड़े विकेट निकालने के लिए मशहूर हो चुका है और श्रेयस गोपाल के सबसे पसंदीदा शिकार बन गए हैं विराट कोहली और एबी डिविलियर्स। 12वें सीजन में पिछली बार जब राजस्थान और बैंगलुरू की टीमें आमने सामने थी तो गोपाल ने इन दो दिग्गजों को आउट किया था और कल फिर एक बार कोहली और डिविलियर्स श्रेयस के शिकार बने।

ये भी पढ़ें: श्रेयस गोपाल की शानदार गेंदबाजी, बने सीजन में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज

5-5 ओवर के मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी बैंगलुरू टीम की पारी की शुरुआत कोहली और डिविलियर्स ने की। दूसरे ओवर में गोपल अटैक में आए और चौथी ही गेंद पर कप्तान कोहली को लियाम लिविंगस्टोन के हाथों कैच आउट कराया। अगली गेंद पर डिविलियर्स रियान पराग को कैच दे बैठे। गोपाल के तीसरे शिकार बने मार्कस स्टोइनिस जो बिना खाता खोले ही स्टीव स्मिथ के हाथों कैच आउट हुए। इस तरह गोपाल ने अपनी हैट्रिक पूरी की जो उनकी पहली और 12वें सीजन की दूसरी हैट्रिक है।

ओशाने थॉमस:

गोपाल अकेले गेंदबाज नहीं थे जिन्होंने बारिश के चलते रद्द हुए इस मैच में कमाल दिखाया। हाल ही में आईपीएल डेब्यू करने वाले ओशाने थॉमस ने बैंगलुरू के खिलाफ मैच में एक ओवर में मात्र 6 रन देकर दो विकेट झटके। राजस्थान के लिए पांचवां और आखिरी ओवर कराने आए थॉमस ने नो बॉल के साथ शुरुआत की लेकिन हैनरिक क्लासेंन को फ्री हिट का फायदा नहीं उठाने दिया। थॉमस की हाई पिच फुल लेंथ गेंद पर क्लासें केवल एक ही रन बना पाए। ओवर की तीसरी गेंद पर बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में क्लासें कवर्स पर लिविंगस्टोन को आसान सा कैच थमा बैठे। अगली गेंद पर पवन नेगी ने चौका लगाया लेकिन पांचवीं गेंद पर जब थॉमस ने थोड़ी बाहर की तरफ शॉर्ट लेंथ गेंद कराई तो नेगी बल्ले का किनारा दे बैठे और कीपर संजू सैमसन ने उनका कैच पकड़ा।

टूर्नामेंट से बाहर हुए चैलेंजर्स:

12वें सीजन की शुरुआत में लगातार 6 मैच हारने के बाद से ही बैंगलुरू टीम की वापसी मुश्किल थी। खराब तेज गेंदबाजी और पार्थिव पटेल-डिविलियर्स के अलावा बाकी बल्लेबाजों में निरंतरता की कमी ने टीम की परेशानी और बढ़ाई। कप्तान विराट कोहली के बल्ले से रनों का ना निकलना भी टीम के लिए एक बड़ी समस्या था। कोहली ने इस साल 13 मैचों में 34.46 की औसत से कुल 448 रन बनाए जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं। पिछले सीजन के मुकाबले कोहली के प्रदर्शन में काफी गिरावट आई। कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मैच में शतक लगाने के बाद कोहली कोई भी बड़ी पारी नहीं खेल सके।

ये भी पढ़ें: गोपाल की हैट्रिक बेकार, बारिश से धुला बैंगलुरू-राजस्थान का मैच

आरसीबी के खराब सीजन का सबसे बड़ा कारण है अच्छे तेज गेंदबाजों की कमी। मोहम्मद सिराज और उमेश यादव ने इस सीजन जमकर रन लुटाए। वहीं टीम के विदेशी पेसर नाथन कूल्टर-नाइल समय पर भारत नहीं आ सके। हालांकि टीम को कूल्टर नाइल की जगह दिग्गज तेज गेंदबाज डेल स्टेन को टीम में शामिल करने का मौका मिला। स्टेन के प्लेइंग इलेवन में शामिल होने से टीम को सकारात्मक नतीजे भी मिले लेकिन स्टेन केवल दो मैच खेलकर कंधे की चोट की वजह से टूर्नामेंट से बाहर हो गए। राजस्थान के खिलाफ मैच से पहले भी बैंगलुरू के प्लेऑफ में पहुंचने की खास उम्मीद नहीं थी लेकिन इस मैच के रद्द होने के बाद ये टीम आधिकारिक तौर पर टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है।