पाकिस्‍तान के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज सलमान बट (Salman Butt) का मानना है इंग्‍लैंड का मैनचेस्‍टर टेस्‍ट (Manchester Test) में प्‍वाइंट्स गंवाने से कोई सरोकार नहीं है. उनका फोकस (India vs England) केवल इस बात पर है कि मैच नहीं होने के कारण इंश्‍योरेंस की राशि कैसे प्राप्‍त की जाए. भारतीय टीम में फैले कोरोना वायरस के चलते यह मैच नहीं हो सका. इंग्लिश मीडिया ने आरोप लगाए कि भारतीय खिलाड़ी आईपीएल पर फोकस करने के लिए मैनचेस्‍टर टेस्‍ट में नहीं खेल रहे हैं.

सलमान बट (Salman Butt) ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर कहा, “ईसीबी को अपने 40 मिलियन यूरो के नुकसान की चिंता है. उन्‍हें केवल अपना इंश्‍योरेंस क्‍लेम चाहिए. मैच के बारे में उन्‍होंने बात भी नहीं की. उनका यही कहना है कि अगर आईसीसी ने मान लिया कि भारत जानबूझ कर पीछे हटा है तो इससे उन्‍हें इंश्‍योरेंस की राशि मिल जाएगी. वो ऐसा नहीं कह रहे हैं कि भगवान के लिए ये मैच जरूर खेलें. प्‍वाइंट्स हमारे लिए काफी महत्‍वपूर्ण हैं. हम सीरीज हारना नहीं चाहते. इसे 2-2 से बराबरी पर खत्‍म करना चाहते हैं. उन्‍होंने ऐसा कुछ भी नहीं लिखा.”

सलमान बट (Salman Butt) ने कहा, “इस मैच का सही से निपटारा नहीं हो सका है. इसीलिए इसे विवादित मैच माना जा रहा है. अगर ये मुद्दा सुलझ गया होता तो इंग्‍लैंड को आईसीसी का दरवाजा नहीं खटखटाना पड़ता. अगर इंग्‍लैंड ने बीसीसीआई के दो अतिरिक्‍त टी20 मैच खेलने के ऑफर को स्‍वीकार कर लिया होता तो फिर ये आईसीसी की विवाद निपटारा कमेटी के पास नहीं जाता. जब फिजियो ही कोरोना संक्रमित हो गए तो टीम इंडिया के क्रिकेटर्स के मन में मैच खेलने को लेकर शंका होना लाजमी है.”

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने मंगलवार को कहा कि आखिरी मैच के कारण ईसीबी को हुए नुकसान की भरपाई के लिए भारत अगले साल इंग्‍लैंड दौरे पर दो अतिरिक्‍त टी20 मैच खेलेगा.