कोरोना वायरस महामारी के सबसे ज्यादा प्रभावित हुए प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए अब भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) आगे आए हैं। शमी ने अपने घरों को लौट रहे इन प्रवासियों को खाने के पैकेट और मास्क बांटना शुरू किया है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के साहसपुर में अपने घर के पास गरीब प्रवासी मजदूरों के लिए खान-पान वितरण केंद्र बनाए हैं।

बीसीसीआई ने शमी का एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें ये भारतीय क्रिकेटर मास्क और दस्तानें पहनकर बसों में जा रहे लोगों को खाने के पैकेट और मास्क दे रहे हैं।

बोर्ड ने लिखा, ‘‘कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मोहम्मद शमी गरीबों की मदद के लिए आगे आए। उन्होंने उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्ग 24 पर लोगों को खाने के पैकेट और मास्क बांटे। उन्होंने अपने घर के पास भोजन वितरण केंद्र भी बनाया है।’’

कोरोना वायरस से बचाव के लिए देश भर में लागू किए गए लॉकडाउन ने प्रवासी मजदूरों की समस्याएं बढ़ा दी हैं, जो कि तेज गर्मी में बिना खाए पिए अपने घरों की ओर पैदल निकल पड़े हैं। शमी के अलावा अभिनेता सोनू सूद जैसे और कई लोग हैं जो इन प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए आगे आए हैं।

कोविड-19 महमारी की वजह से भारत में 5,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है, जबकि पूरे देश इस वायरस की वजह से दो लाख से भी ज्यादा लोग प्रभावित हैं।